छत्तीसगढ़

चांटीडीह मे हंगामा, बेजा कब्जा हटाने का विरोध राजनीति चमकाने भाजपाई पहुंचे….

( दिलीप जगवानी) : बस्ती खाली करने से नाराज सैकड़ों लोग घरों से निकलकर सड़क पर आ गए और कार्यवाई का विरोध करने लगे. राजस्व कालोनी से लगे चांटीडीह के बड़े हिस्से मे बेजा कब्जा कर निवास करने वाले तीन सौ से ज्यादा परिवारों को कई साल हुए आवास आवंटित किया जा चुका है.

Advertisement


ख़बर पाकर भाजपाई अपनी राजनीति चमकाने यहां पहुंच गए.

Advertisement


चक्का जाम की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचकर पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को सड़क से हटाया. राजस्व कालोनी मुख्य मार्ग से होकर चांटीडीह मे बड़े इलाके मे अवैध कब्जा धारी सालों से निवास करते हैं. जगह खाली करने नगर निगम ने कई बार इनको नोटिस दिया हैं एक दिन पहले इलाके मे बेदखली की कार्यवाई करने सूचना दी गई थी. इससे आक्रोशित होकर सैकड़ों कब्जाधारी विरोध पर उतर आए. मौके पर आए निगम के इंजीनियर सुरेश बरूआ ने कहा सवा तीन सौ परिवारो को शासकीय योजना का मकान पहले ही आबंटित किया गया हैं बावजूद इनमे से अधिकांश लोग कब्जा नहीं छोड़ना चाहते इसलिए उच्चाधिकारियों के आदेश पर कार्यवाई किया जा रहा है.

Advertisement


इधर निगम की कार्यवाई का विरोध करने भाजपा नेता पहुंच गए. क्षेत्र के पार्षद विजय ताम्रकार का कहना है कब्जा स्थल पर मकान बनाकर देने का वादा करने वाली काँग्रेस सरकार अब गरीबो की झोपड़ियां तोड़ रही. य़ह सरासर अन्याय है वे ऐसा नहीं होने देंगे.

गौर तलब है कि भाजपा शासन मे इन गरीबो को झोपड़ी से निकालकर अशोक नगर मे प्रधानमन्त्री आवास आबंटित किया गया था अब वही विरोधी दल के नेता गरीब कब्जाधारीयो को   आवास मे भेजने का विरोध करने लगे है. बहरहाल निगम का अमला कार्यवाई करने पहुंचा लेकिन प्रदर्शनकारी मकान खाली करने तैयार नही हुए इस दौरान निगम इंजीनियर से उनकी बहस हुई. किसी तरह पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित किया. काफी देर तक यहां शोर शराबा होता रहा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button