play-sharp-fill
बिलासपुर

EXCLUSIVE : आज पूरा देश मना रहा है नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती.. वहीं बिलासपुर में, सरकंडा सुभाष चौक स्थित नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की प्रतिमा से उनका चश्मा ही गायब है..! प्रतिमा के शिलालेख की भी साफ सफाई नहीं

Advertisement

(शशि कोन्हेर के साथ प्रदीप भोई) : बिलासपुर – 23 जनवरी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती‌ जहां आज पूरा देश उनकी सारी गाथा उनका उनका बलिदान को लेकर नमन कर रहा है वही सरकंडा में लगी उनकी प्रतिमा की ओर किसी का ध्यान नहीं है। आज पूरा राष्ट्र नेताजी सुभाष चंद्र बोस जी की जयंती मना रहा है। वहीं कुछ समाजसेवी और कुछ सियासी नेता बतौर रस्म अदायगी श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। वही सरकंडा सुभाष चौक स्थित नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा से उनका चश्मा ही गायब है। विडंबना है कि इस ओर किसी का धयान नही है। न तो नगर निगम का इस ओर धयान है। न ही किसी राजनीति दलों के नेताओं को इस बात से कोई लेना-देना ही नहीं है।

Advertisement


नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के आदर्श और देश के लिए बलिदान हर भारतीय को हमेशा प्रेरित करता रहेंगा. देश की आजादी के लिए उन्होंने अलख जगाने का काम किया है। अंग्रेजों को नाको चने चबाने और उन्हें देश से भगाने के लिए उन्होंने- आजाद हिंद के गठन जैसे साहसिक कदम उठाए हैं।. ये उन्हें राष्ट्रीय प्रतीक बनाते हैं. नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती पर उन्हें हमारी आदरपूर्ण श्रद्धांजलि। राष्ट्र के प्रति उनके योगदान पर हर भारतीय को गर्व है.

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button