खेल

दिवाली के दिन पड़ा भारत का ये वर्ल्ड कप मैच….31 साल बाद इस खास पर्व पर खेलेगी टीम इंडिया

Advertisement


(शशि कोन्हेर) : आईसीसी ने हाल ही में वर्ल्ड कप 2023 का ताजा शेड्यूल जारी किया है। नए शेड्यूल में भारत बनाम पाकिस्तान मुकाबले के साथ कुल 9 मैचों की तारीख में बदलाव किए गए हैं। नए शेड्यूल में भारत के दो मैचों को रिशेड्यूल किया गया है। बहुप्रतीक्षित भारत बनाम पाकिस्तान मुकाबला पहले 15 अक्टूबर को अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेला जाना था, मगर सुरक्षा एजेंसियों के कहने पर इस मैच को एक दिन पहले यानी कि 14 अक्टूबर को कराने का फैसला लिया गया है। दरअसल, 15 अक्टूबर से नवरात्रि शुरू हो रहे हैं और गुजरात में इस त्योहार को बड़े ही धूम धाम से मनाया जाता है।

Advertisement

ऐसे में इस मैच को एक दिन पहले आयोजित करने का फैसला लिया गया है। इसके अलावा भारत का नीदरलैंड्स के खिलाफ मुकाबला एक दिन बाद के लिए शिफ्ट कर दिया गया है। पहले के कार्यक्रम के अनुसार भारत बनाम नीदरलैंड्स मैच 11 नवंबर को खेला जाना था, मगर नए शेड्यूल के अनुसार अब यह मैच 12 नवंबर को आयोजित होगा। यह मैच बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला जाना है, मगर गौर करने वाली बात यह है कि इन दिन दिवाली का बड़ा त्योहार है।

Advertisement

आमतौर पर भारत दिवाली के शुभ दिन पर कोई क्रिकेट मैच नहीं खेलता, मगर वर्ल्ड कप होने की वजह से टीम इंडिया को इन खास दिन पर भी फैंस का मनोरंजन करना होगा। ऐसे में फैंस को मन में सवाल उठने लगे कि टीम इंडिया ने आखिरी बार दिवाली के दिन मैच कब खेला था। मगर आपके जहन में भी यही सवाल गोते लगा रहा है तो आप सही जगह आए हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें, भारत ने अभी तक सिर्फ दो ही बार दिवाली के खास पर्व पर मैच खेला है, वहीं इनमें से एक मैच वर्ल्ड कप का ही था। टीम इंडिया 31 साल के लंबे इंतजार के बाद दिवाली के दिन मैच खेलेगी।

दिवाली के खास पर्व पर भारतीय क्रिकेट टीम ने पहली बार 1987 वर्ल्ड कप के दौरान मैच खेला था। इस मुकाबले में टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया से भिड़ी थी और कपिल देव की अगुवाई में भारत ने कंगारुओं को 56 रनों से धूल चटाई थी। पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया ने सुनील गावस्कर, नवजोत सिंह सिद्धू, दिलीप वेंगसरकार और मोहम्मद अजहरुद्दीन के अर्धशतकों की मदद से बोर्ड पर 289 रन लगाए थे। इस स्कोर का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलिया 233 रनों पर सिमट गया था। मनिंदर सिंह और अजहरुद्दीन ने इस दौरान 3-3 विकेट चटकाए थे।

1992 में टीम इंडिया ने जिम्बाब्वे के खिलाफ आखिरी बार दिवाली के खास पर्व पर मैच खेला था। इस बार भी भारत जीत दर्ज करने में कामयाब रहा था। जिम्बाब्वे के खिलाफ हुए एकमात्र वनडे में भारत ने मेजबानों को 30 रनों से धूल चटाई थी। संजय मांजरेकर के अर्धशतक के दम पर भारत पहले बल्लेबाजी करते हुए बोर्ड पर 239 रन लगाने में सफल रहा था। इसके जवाब में जिम्बाब्वे 209 रनों पर ढेर हो गया था। गेंदबाजी में जवागल श्रीनाथ 3 विकेट चमके थे।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button