गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही

मधुमक्खियों के हमले का शिकार हुए अपने कलेजे के टुकड़े को नहीं बचा पाई मां, आंगनबाड़ी केंद्र में लगा था बहुत बड़ा

(शशि कोन्हेर) : दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां आंगनबाड़ी केंद्र के सामने मधुमक्खियों के झुंड ने पांच साल के बच्चे पर हमला कर दिया। जिससे उसकी मौत हो गई। बताया जा रहा है कि आंगनबाड़ी के अंदर मधुमक्खियों ने छत्ता बना रखा था। उनके झुंड ने दो बच्चों पर हमला किया था।

Advertisement

जानकारी के मुताबिक, आंगनबाड़ी सहायिका के मौजूद होने के बावजूद छात्र को बचाया नहीं जा सका। छात्र की मां ने दौड़कर बच्चे को मधुमक्खियों से छुड़ाया और अस्पताल लेकर गई। जहां इलाज के दौरान बच्चे की मौत हो गई। तो वहीं दूसरे बच्चा का इलाज जारी है। मामला गौरेला के दौजरा गांव का है। परिजनों आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है।

Advertisement

बताया जा रहा है कि महिला एवं बाल विकास विभाग की लापरवाही के चलते पांच वर्षीय बच्चे की जान चली गई। मामला गोरेला विकासखंड की दौजरा गांव के ऊपरपारा आंगनवाड़ी का है। जहां आंगनबाडी के टॉयलेट के अंदर खतरनाक मधुमक्खियों का एक बड़ा छत्ता मौजूद है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सुपरवाइजर सहित विभाग ने पूरी तरह अनदेखी करते हुए उसको उसी के हाल में छोड़ दिया था। धीरे-धीरे मधुमक्खी का छत्ता करीब दो फीट बड़ा हो गया।

Advertisement

बीती नौ अगस्त को दोपहर के वक्त जब पांच वर्षीय ऋषभ आंगनबाड़ी में पढ़ने वाले अन्य बच्चों के साथ आंगनबाड़ी के सामने खेल रहा था। तभी मधुमक्खियों ने छात्रों पर हमला कर दिया। मधुमक्खी के हमले के बाद सारे बच्चे भाग गए। ऋषभ और लक्ष्य ऐसा न कर सके। ऋषभ मधुमक्खियों के हमले की वजह से आगनबाड़ी केंद्र के सामने रखे जल जीवन मिशन योजना कर अंतर्गत रखें पाइप के रोल के अंदर गिर गया जबकि लक्ष्य बाहर जमीन पर गिर पड़ा।

इस दौरान लगातार मधुमक्खियां का झुंड ऋषभ और लक्ष्य के सिर हाथ पैर में काटता रहा मधुमक्खियां के डंक से पीड़ित ऋषभ लगातार चीख पुकार करता रहा लक्ष्य तो थोड़ी समझदारी दिखाते हुए वहां से भाग गया पर ऋषभ भाग न सका। पास ही मौजूद आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ने उन्हें बचाने का कोई भी प्रयास नहीं किया।

बाद में आंगनबाड़ी के सामने थोड़ी ही दूर पर मौजूद बच्चों की मां ने अपने बेटे ऋषभ की चीख पुकार सुनी तो बेटे को बचाने मां दौड़ पड़ी और खुले हाथों से ही बच्चे को उठाकर भागी और अपने आंचल में मधुमक्खियां हटाकर उसे छुपा लिया। इस दौरान मधुमक्खियों ने उसकी मां को भी काटा पर मां बच्चे को लेकर अस्पताल दौड़ी चली आई। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button