play-sharp-fill
अम्बिकापुर

बदहाली पर अपने आंसू बहा रहा है विश्राम गृह…..


(मुन्ना पाण्डेय) : लखनपुर– (सरगुजा) नगर के हृदय स्थल बस स्टैंड में मौजूद विश्राम गृह अपने बंदहाली पर आसू बहा रहा है। दरअसल विश्राम गृह पूर्व में जनपद कार्यालय भवन हुआ करता था तब साफ सफाई बरकरार थी। बाद में जनपद पंचायत दफ्तर अन्यत्र ग्राम केवरा में स्थानांतरित कर दिये जाने कारण पुराने भवन को विश्राम गृह के रूप में तब्दील कर दिया गया। विभागीय देख रेख के अभाव में बदइतजामी पसारता चला गया ।आज कचड़ा-खाना बना हुआ है। आसपास के रहवासियों ने विश्राम गृह को कचड़ा खाना बना कर रख दिया है। इर्द गिर्द के लोग विश्राम गृह परिसर में घरों से निकलने वाले कचड़े फेंक जाते हैं जिससे विश्राम गृह में गंदगी पसरा हुआ है इतना ही नहीं आवारा तत्वों के आवारगी तथा सूअर गाय बैलो के ठहरने का अड्डा बना हुआ है।

Advertisement


नगरीय क्षेत्र में होने कारण नगरीय प्रशासन ने विश्राम गृह को अपने आधिन लेने मंशा जाहिर किया था परन्तु जनपद के मिल्कियत होने कारण इस पर कोई विचार नहीं बन सकी। लिहाजा जनपद ने नगर पंचायत के इस मांग को एक सिरे से खारिज कर दिया। जिससे विश्राम गृह उपेक्षा का दंश झेल रहा है।

Advertisement


नगर में बड़े बड़े नेता मंत्रीयो तथा शासन प्रशासन के उच्चाधिकारीयो का आना जाना बीच बीच में लगा रहता है बाद इसके विश्राम भवन के बदहाली पर किसी का ध्यान नहीं जाता जिससे विश्राम गृह के रखरखाव पर सवालिया निशान लगने लगा है। विश्राम भवन का नहीं अपितु भवन में आकर ठहरने वाले शासन के नेता मंत्रीयो आला अधिकारियों का उपेक्षा हो रही है। भवन की नहीं शासन प्रशासन के आला हस्तियों की तौहीन हो रही है । विश्राम भवन का इंतजाम आज हासिये में चला गया है। बहरहाल नगर वासियों ने साफ सफाई कराये जाने मांग किया है।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button