देश

आखिरकार सफल हुआ रेस्क्यू ऑपरेशन.. 5 घंटे की मशक्कत के बाद बोरवेल से मासूम को सकुशल निकाला बाहर

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : हापुड़ :  कोटला सादात मोहल्ले में रहने वाले मोहसिन और समरीन का चार साल का बच्चा मुआविया नगरपालिका के बोरवेल से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है। बच्चे को बाहर निकालने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया है। जहां पर डॉक्टर उसकी निगरानी कर रहे हैं। बोरवेल में गिरे बच्चे को करीब 5 घंटे बाद निकाला जा सका है।

Advertisement

खास बात है कि बच्चा करीब 50 फीट पर गहरे बोरवेल में फंसा था। इस दौरान बच्चा रोता रहा है। बोरवेल से उसके रोने की आवाज आई। बता दें कि बच्चा बोल और सुन नहीं सकता है।

Advertisement

इधर घटना की सूचना मिलते ही एडीएम श्रद्धा शांडिल्ययायन, एसपी दीपक भूकर एएसपी मुकेश चंद्र मिश्र, एसडीएम सदर सुनीता सिंह, मुख्य अग्निशमन अधिकारी मनु शर्मा समेत अन्य अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। बोरवेल के आसपास सैकड़ों की संख्या में लोग एकत्रित हो गए।

नगरपालिका ने बंद नहीं कराया बोरवेल का गड्ढा
घटना को लेकर आसपास के लोगों ने बताया कि नगरपालिका की जगह में 50 फीट गहरा बोर हुआ था। बोर किए जाने के बाद उसका मुंह खुला छोड़ दिया गया था। कई बार मामले की शिकायत अधिकारियों से की गई, लेकिन अधिकारियों ने इसकी सुध नहीं ली। इस कारण बच्चा खेलते-खेलते बोर के पास पहुंच गया और अचानक उसके अंदर जा गिरा।

कुत्ता के साथ खेल रहा था बच्चा
बता दें कि कुत्ता के साथ बच्चा खेल रहा था, तभी वह बोरवेल में गिर गया। वह लगभग तीन घंटे से सीधा बोरवेल में खड़ा हुआ है। बच्चे के लिए बोरवेल के अंदर दूध भेजा गया है।

लोहे के रिंग से फंदा बनाकर निकालने का प्रयास
बोरवेल में लोहे के रिंग से फंदा बनाकर बाहर निकाला गया। रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान एनडीआरएफ की टीम बोरवेल के अंदर बार-बार रस्सी डाल रही थी। इससे बच्चा डर रहा था। टीम का प्रयास ये है कि बच्चा रस्सी पकड़ ले तो हाथ में फंदा बांधकर ऊपर खींच लिया जाए।

बोरवेल में बच्चे ने पिया दूध
बोरवेल के गड्ढे में गिरे बच्चे को रेस्क्यू करने में करीब 5 घंटे लगे। रस्सी के जरिए दूध की बोतल बच्चे तक पहुंचाई गई। दो बार वह दूध पिया।

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button