बिलासपुर

वहां अवैध लकड़ी पकड़ने गए वन अमले पर हुआ अमला, आरोपी फरार

(डब्बू ठाकुर) : बिलासपुर/कोटा – बेलगहना परिक्षेत्र में हुए वनोपज की चोरी के मामले में जांच के लिए पहुंचे रेंजर की टीम की उस वक्त सिट्टी पिट्टी गुम हो गई जब एक ग्रामीण ने वन विभाग की टीम पर टंगिया से हमला करने की कोशिश की। इस बीच वन कर्मचारियो से आरोपी ने धक्का-मुक्की भी की। बताया जा रहा है यह पूरा मामला सोमवार कोटा थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम करवा का है जहां राजू पात्रे के खिलाफ बेलगहना वन परिक्षेत्र की रेंजर चंद्राणी वंदे ने लिखित शिकायत दर्ज कराई है।

Advertisement

जहा उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि सोमवार को मंडल प्रबंधक कोटा परियोजना मंडल बिलासपुर द्वारा शासकीय वनों से चोरी हुये वनोपज की बरामदगी हेतु राजू पात्रे ग्राम करवा एवं अन्य के विरूद्ध जारी तलासी वारंट पर कार्यवाही हेतु वन परिक्षेत्र बेलगहना से सहायक परियोजना परिक्षेत्र अधिकारी (डिप्टी रेंजर) रविकुमार जगत, अशोक कुमार साहू, मनोज करियाम, उपेन्द्र कुमार देवांगन, क्षेत्ररक्षक नंदकिशोर सिंह, अरविन्द बंजारे, नियमित चौकीदार शिवकुमार यादव, उड़नदस्ता वाहन चालक शिवकुमार यादव के शासकीय वाहन कैम्पर क्रमांक सीजी 04 जे डी 3592 में वारंट की तामिली हेतु ग्राम करवा गये थे।

Advertisement

जहा ग्राम करवा में राजू पात्रे के घर की तलाशी लेने के दौरान सागौन की लकड़ी से बना हुआ फर्नीचर और सिलपट आंगन से मिला जिसे वाहन में भरवाने के बाद घर की तलाशी वन विभाग की टीम कर ही रही थी। तभी उक्त कार्यवाही को लेकर विरोध करते हुए राजू पात्रे द्वारा तलाशी वारंट को फाड़ दिया गया और वहीं रखे टंगिया को लेकर वन अमले को धमकी देने लगा। इस बीच वन कर्मचारी रविकुमार जगत और अरविन्द कुमार बंजारे समझाने लगे तो राजू पात्रे उन दोनो के साथ हाथा पाई करने लगा और उनके साथ मारपीट कर मौके से फरार हो गया। इधर आरोपी के खिलाफ शिक़ायत के बाद कोटा पुलिस ने आरोपी के मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button