छत्तीसगढ़बिलासपुर

मस्तूरी में शराब दुकान के पास नहर में मिली रक्तरंजित लाश की गुत्थी सुलझी, दो आरोपी पकड़ाए, मृतक झूठे मामले में फंसाने की धमकी देता था इसलिए की हत्या

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : बिलासपुर। मस्तूरी में शराब दुकान के पास नहर में मिली मोपका निवासी अनीश सिंह ठाकुर की रक्तरंजित लाश की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। पुलिस ने इस मामले में शिबू खान और अरमान खान को हिरासत में ले लिया है। इन दोनों से ही पूछने पर आरोपियों ने बताया कि वह कबाड़ का धंधा करते हैं। और मृतक के द्वारा उन्हें बार-बार झूठे मामले में फंसाकर जेल भेजो आने की धमकी दी जाती थी।

Advertisement

जिससे वे दोनों परेशान थे। 12 फरवरी को बिलासपुर में अवैध कावड़ियों के खिलाफ कार्रवाई के दौरान दोनों आरोपी मस्तूरी में जाकर छुप गए थे। इस पर मृतक के द्वारा दोनों को फोन कर बिलासपुर आने के लिए दबाव डाला गया। इससे दोनों आरोपियों को लगा कि मृतक अनीश सिंह दोनों को बिलासपुर बुलाकर उनके अवैध कबाड़ के बारे में पुलिस को जानकारी देकर उन्हें पुलिस से पकड़वाने और उनके घर पर कब्जा करने की फिराक में है। इसलिए दोनों आरोपियों शिबू खान और अरमान खान ने मृतक अनीश सिंह को हमेशा के लिए रास्ते से हटाने का प्लान बनाया।

Advertisement

और मृतक को आपराधिक षड्यंत्र कर अकेले बिलासपुर से मस्तूरी बुलाकर अपने बताए अनुसार सुनसान जगह में दोनों ने मिलकर मृतक पर चाकू से ताबड़तोड़ वार कर उसके सर को पत्थर से कुचल कर हत्या कर दी। हत्या के बाद मृतक के दोनों मोबाइल तोड़ दिए और साक्ष्य छुपाने के लिए घटना में प्रयुक्त चाकू तथा मोबाइल को घटनास्थल से 7 किलोमीटर दूर हाईवे किनारे दर्जी घाट की खाड़ी में फेंक दिए।

वहीं मृतक की मोटरसाइकिल को बिलासपुर रेलवे स्टेशन में बुधवारी बाजार के पीछे गली में लॉक करके छोड़ दिए हैं। दोनों आरोपियों के द्वारा बताए अनुसार पुलिस ने वारदात में प्रयुक्त चाकू और मृतक का क्षतिग्रस्त मोबाइल तथा बाइक बरामद कर ली है। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर रिमांड पर जेल भेज दिया है।

संपूर्ण कार्यवाही में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) राहुल देव शर्मा, सीएसपी सिविल लाइन संदीप पटेल थाना प्रभारी मस्तूरी निरीक्षक प्रकाश कांत एसीसीयू प्रभारी धर्मेन्द्र वैष्णव, थाना प्रभारी सिटी कोतवाली प्रदीप आर्या, पुलिस सहायता केन्द्र प्रभारी उप निरीक्षक राजसिंह महिलांगें. थाना मस्तूरी से सउनि हेमंत पाटले, सउनि राजेश सिंह, प्रआर सुबंध साय सिदार, प्रआर बलबीर सिंह एवं एसीसीयू की टीम डाग स्क्वॉड की टीम का विशेष योगदान रहा।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button