छत्तीसगढ़

भाजपा की एकता बैठक में दंगल…..

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : दुर्ग। भारतीय जनता पार्टी नेताओं का आपसी मनमुटाव कम नहीं हो रहा,जबकि सत्ता गंवाने के बाद फिर से चुनाव की तैयारी को लेकर अपने को सक्रिय और एक बताने के लिए बैठक बुलायी गई थी लेकिन गुटबाजी का पुराना राग फिर सामने आ गया और गुट भी वहीं दोनों पुराना लोकसभा सांसद बनाम राज्यसभा सांसद का,यहां कल प्रदेशव्यापी प्रदर्शन में ताकत दिखाने के लिए बुलाई बैठक में काफी किरकिरी हुई।

Advertisement


भाजपा के प्रदेश संगठन महामंत्री पवन साय के सामने ही दुर्ग सांसद विजय बघेल और राज्यसभा सांसद सरोज पांडेय के भाई राकेश पांडेय के बीच वाद विवाद शुरू हो गया। सांसद बघेल ने संगठन की मजबूती को लेकर अपनी बात रखी तो राकेश पांडेय ने इसे संगठन और कार्यकर्ताओं का अपमान बता डाला। राकेश ने सांसद को यहां तक कह डाला कि संगठन बढिय़ा काम कर रहा है नसीहत न दें।

Advertisement


दरअसल, 16 मई को भाजपा प्रदेश सरकार के खिलाफ जेल भरो आंदोलन कर रही है। इसे लेकर प्रदेश के संगठन महामंत्री पवन साय ने दुर्ग में भाजपा की एक बैठक बुलाई थी। बैठक में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता और पदाधिकारी मौजूद हुए थे। संगठन महामंत्री पवन साय के बाद सांसद विजय बघेल ने सभा को संबोधित किया। उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं को चार्ज करने की नीयत से काफी बातें कहीं। सांसद बघेल ने कहा कि संगठन को मजबूत होना पड़ेगा। अब सोनार नहीं, लोहार की तरह काम करना होगा।


सांसद बघेल ने कहा कि दुर्ग-भिलाई में संगठन की सक्रियता पर सवाल उठते हैं। प्रदर्शन में कुछ लोग मौजूद होते हैं। अब इसकी संख्या बढ़ानी होगी। 2003 में भाजपा का संगठन ज्यादा मजबूत था।उस समय कोई आंदोलन होता था तो कार्यकर्ताओं की भीड़ देखते बनती थी। आज वो बात नहीं है।
दुर्ग सांसद की ये बात सुनते ही भाजपा प्रदेश कार्य समिति सदस्य राकेश पांडेय भड़क गए। उन्होंने माइक अपने हाथ में लिया और कहा कि, बार-बार संगठन के कार्य और कार्यकर्ताओं पर प्रश्न चिन्ह लगाना कार्यकर्ता एवं संगठन का अपमान है। हमें इससे बचना चाहिये। संगठन सर्वोपरि है संगठन से ऊपर कुछ भी नहीं है। उन्होंने सांसद को यहां तक कह दिया संगठन बढिय़ा कार्य कर रहा है, इस पर नसीहत न दें।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button