राजनांदगांव

बीएनसी मिल बंद होने के लिए रमन सरकार जिम्मेदार : हेमा देशमुख



(उदय मिश्रा) : राजनांदगांव – शहर की महापौर एवं प्रदेश महिला कांग्रेस की उपाध्यक्ष हेमा सुदेश देशमुख ने भाजपाइयों द्वारा कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता राहुल गांधी के खिलाफ प्रदर्शन और पुतला दहन पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि भाजपा नेताओं को पहले यह जान लेना चाहिए कि बीएनसी मिल बंद होने के दौरान केन्द्र में अटल बिहारी बाजपेयी की भाजपा सरकार थी। उन्हीं के कार्यकाल में बीएनसी मिल बंद कराई गई और जब छत्तीसगढ़ में रमन सिंह की भाजपा सरकार काबिज हुई, तब बीएनसी मिल के कल पुर्जों के साथ-साथ करोड़ों की कीमती जमीन को भी नीलाम कर दिया गया।

Advertisement


कांग्रेस नेत्री देशमुख ने कहा कि दरअसल यह भाजपा नेताओं का संस्कार ही है कि वे गलती तो खुद करते हैं, लेकिन दोष हमेशा दूसरों को देेते हैं। बीएनसी मिल जो अब पूर्णत: अपना अस्तित्व खो चुकी है, जिसके जिम्मेदार तत्कालीन मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह हैं और केन्द्र में अभी भी भाजपा की सरकार है, इसलिए भाजपाइयों को चाहिए कि वे अपनी नाकामियों को छुपाने का कुत्सित प्रयास छोडक़र मोदी सरकार से राजनांदगांव में बीएनसी मिल की तरह कोई नया उद्योग-धंधा खोलने की मांग करने की हिम्मत दिखाएं, ताकि जनता को भी पता चल सके कि भाजपाई सचमुच गरीब, बेरोजगारों के कितने हितैषी हैं?

Advertisement


भाजपा शासन में मिल के कल-पुर्जे और जमीन भी नीलाम हो गई
महापौर देशमुख ने स्पष्ट किया कि छत्तीसगढ़ में जब स्व. अजीत जोगी की कांग्रेस सरकार थी, तब केन्द्र में अटल बिहारी बाजपेयी की सरकार में डॉ. रमन सिंह केन्द्रीय उद्योग एवं वाणिज्य राज्य मंत्री थे। उस दौरान बीएनसी मिल का करोड़ों रूपयों का बिजली बिल बकाया था, जिसे माफ करने के लिए श्री जोगी ने केन्द्र की अटल सरकार से गुहार लगाई थी। जोगी जी ने स्पष्ट रूप से कहा था कि बीएनसी मिल राजनांदगांव जिले की शान और पूरे छत्तीसगढ़ की पहचान है, इसलिए यदि केन्द्र की सरकार मिल का बिजली बिल माफ कर देती है तो हम मिल को कर्ज लेकर चलायेंगे, ताकि राजनांदगांव जिले की शान बराकरार रहे और मिल में काम करने वाले परिवार बेरोजगार न हों। किंतु तत्कालीन केंद्रीय उद्योग एवं वाणिज्य राज्य मंत्री रहे डॉ. रमन सिंह के कानों में जूं तक नहीं रेंगी और मिल को चालू रखने के लिए कोई प्रयास नहीं किया गया। आखिरकार बीएनसी मिल बंद हो गई और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री बनने के बाद डॉ. रमन सिंह ने बीएनसी मिल के कल पुर्जों के साथ-साथ मिल की करोड़ों की कीमती जमीन को भी नीलाम कर दिया। इस तरह भाजपा सरकार के राज में ही बीएनसी मिल का अंत हो गया। उसके बाद भी भाजपाइयों द्वारा मिल को लेकर राजनीति और बयानबाजी उनके दोहरे चरित्र को दर्शाता है।

Advertisement


महापौर हेमा देशमुख ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सांसद संतोष पांडेय और विधायक डॉ. रमन सिंह बीएनसी मिल को पुन: शुरू कराने ठोस पहल पहल करें या राजनांदगांव में बीएनसी मिल की तरह कोई नया बड़ा उद्योग खुलवाएं, नहीं तो जिले में जब-जब सांसद संतोष पांडेय, माननीय विधायक डॉ. रमन सिंह राजनांदगांव के दौरे पर आयेंगे, तब-तब उनका घेराव किया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button