छत्तीसगढ़

पूर्व राज्यसभा सांसद विजय दर्डा उनके पुत्र देवेंदर दर्डा और एमडी मनोज कुमार जायसवाल को छत्तीसगढ़ कोल ब्लॉक आवंटन मामले में 4 साल की सजा

(शशि कोन्हेर) : छत्तीसगढ़ कोल ब्लॉक आवंटन मामले में पूर्व राज्यसभा सांसद विजय दर्डा को 4 साल की सजा सुनाई है। दिल्ली की विशेष अदालत ने पूर्व राज्यसभा सांसद विजय दर्डा को 4 साल कैद की सजा सुनाई है। उनके बेटे देवेंदर दर्डा, मेसर्स जेएलडी यवतमाल एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक मनोज कुमार जयसवाल को भी छत्तीसगढ़ में कोयला ब्लॉक आवंटन में अनियमितता से संबंधित मामले में 4 साल कैद की सजा सुनाई गई।

Advertisement
Advertisement

अदालत ने इसी मामले में पूर्व कोयला सचिव एच.सी. गुप्ता, 2 वरिष्ठ लोक सेवकों के.एस. क्रोफा और के.सी. सामरिया को भी 3 साल की सजा सुनाई है। बता दें कि, 13 जुलाई को पूर्व सांसद विजय दर्डा और उनके बेटे समेत कई लोग दोषी करार दिए गए थे।

Advertisement

दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने कॉल ब्लॉक आवंटन मामले में ये बड़ा फैसला सुनाया था। कोर्ट ने आइपीसी की धारा 120बी, 420 और भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की अन्य धाराओं के तहत दोषी ठहराया है। अदालत ने कहा था कि लोकमत समूह के अध्यक्ष विजय दर्डा ने छत्तीसगढ़ में फतेहपुर (पूर्व) कोयला ब्लॉक को जेएलडी यवतमाल एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड को आवंटित कराने के लिए ऐसा किया था।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button