देश

राजभर ने किया वार…एसी से बाहर नहीं निकले अखिलेश यादव…इसी कारण हारे लोकसभा उपचुनाव

लखनऊ – उत्तर प्रदेश में लोकसभा उपचुनाव के रविवार को आए नतीजों से समाजवादी पार्टी को तगड़ा झटका लगा है। विधानसभा चुनाव में जीत के बाद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के त्यागपत्र से रिक्त हुई आजमगढ़ और पार्टी के महासचिव मोहम्मद आजम खां के पार्टी के इस्तीफे से खाली हुई रामपुर लोक सभा सीटों पर हुए उपचुनाव में भाजपा को जीत मिली है।

Advertisement

आजमगढ़ और रामपुर दोनों सीटों पर हार का ठीकरा समाजवादी पार्टी के सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव पर फोड़ा है। ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव की हार से अखिलेश यादव ने कोई सीख नहीं ली। उपचुनाव में वह वातानुकूलित कमरे से बाहर नहीं निकले।

Advertisement

लोकसभा उपचुनाव का परिणाम आने के बाद पत्रकारों से बातचीत में ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि विधानसभा चुनाव की तरह अखिलेश यादव ने उपचुनाव में भी नामांकन के अंतिम दिन प्रत्याशी दिए। प्रत्याशियों के प्रचार के लिए एसी कमरों से बाहर नहीं निकले।

Advertisement

उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव को आगे की राजनीति के लिए भाजपा की तरह घर से निकल कर पार्टी संगठन को मजबूत करना होगा। यदि वह निकले होते तो आजमगढ़ में इतने कम मतों से हार नहीं देखनी पड़ती। उन्होंने यह भी कहा कि वह अपनी पार्टी के 324 लोगों के साथ लगातार आजमगढ़ में जमे रहे, यदि उन्होंने 12 दिन समय नहीं दिया होता तो आजमगढ़ में लाखों वोटों से हार का मुंह देखना पड़ता।

सुभासपा अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि उपचुनाव में अखिलेश यादव को पहले दिन से भाजपा-बसपा गठजोड़ का पता था। रामपुर में बसपा ने प्रत्याशी नहीं दिया। भाजपा के दबाव में आजमगढ़ में पार्टी से निकाले गए नेता को बुलाकर बसपा ने प्रत्याशी बना दिया। यह स्थिति देख अखिलेश यादव को सावधान हो जाना चाहिए था। उन्होंने कहा कि वह जल्द ही अखिलेश यादव से मुलाकात कर उन्हें क्षेत्र में निकलने और पार्टी संगठन को मजबूत करने की सलाह देंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button