देश

न्यूज़ एंकरों के बॉयकॉट पर यू टर्न की तैयारी, अब इसे असहयोग आंदोलन कह रहे हैं कांग्रेस प्रवक्ता

(शशि कोन्हेर) : क्या इंडिया गठबंधन 14 पत्रकारों के बॉयकॉट से यू-टर्न लेने की तैयारी में है? कांग्रेस नेता पवन खेड़ा के शनिवार को जारी बयान से तो कुछ ऐसा ही संकेत मिल रहा है। पवन खेड़ा ने अपने ताजा बयान में कहा कि इंडिया गठबंधन ने 14 पत्रकारों का बायकॉट नहीं किया है। बल्कि यह एक तरह का असहयोग आंदोलन है। उन्होंने आगे यह भी कहा कि कुछ भी स्थायी नहीं होता है। अगर भविष्य में इन पत्रकारों को अपनी गलती का एहसास हो जाता है तो इंडिया गठबंधन के नेता इनके शो में जाना शुरू कर देंगे। पवन खेड़ा ने कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक से दो दिन पहले ही यह बात कही है। गौरतलब है कि इससे पहले ऐसी भी बातें सामने आई थीं कि इंडिया गठबंधन में पत्रकारों के बायकॉट पर एकराय नहीं है।

Advertisement


बता दें कि इंडिया गठबंधन ने हाल ही में एक लिस्ट जारी की है। इस लिस्ट में 14 एंकर्स हैं, जिनके शो में इंडिया गठबंधन की तरफ से किसी नेता को नहीं भेजे जाने की बात कही गई है। इन एंकर्स के नाम हैं, अदिति त्यागी, अमन चोपड़ा, अमीश देवगन, आनंद नरसिम्हा, अर्णव गोस्वामी, अशोक श्रीवास्तव, चित्रा त्रिपाठी, गौरव सावंत, नविका कुमार, प्राची पाराशर, रुबिका लियाकत, शिव अरूर और सुधीर चौधरी के नाम शामिल हैं। इस बारे में पूछे जाने पर पवन खेड़ा ने कहा कि हमने किसी को बैन, बायकॉट या ब्लैकलिस्ट नहीं किया है। इसे एक तरह से असहयोग आंदोलन कहा जा सकता है।

Advertisement

उन्होंने कहा कि हम ऐसे किसी भी व्यक्ति के साथ सहयोग नहीं करेंगे, जो समाज में नफरत फैला रहा है। हमें उन्हें नफरत फैलाने से रोक रहे हैं। खेड़ा ने कहा कि अगर आप नफरत फैलाना चाहते हैं तो फैलाइए, आप ऐसा करने के लिए आजाद हैं। हमें आपके गुनाह में शरीक नहीं होना है।

Advertisement


पवन खेड़ा ने लिस्ट में शामिल पत्रकारों को लेकर कहा कि वह लोग हमारे दुश्मन नहीं हैं। मीडिया के इन दोस्तों में हम किसी से नफरत नहीं करते, उनकी अपनी मजबूरियां हो सकती हैं। उन्होंने आगे कहा कि कुछ भी स्थायी नहीं होता है।

अगर कल को उन्हें एहसास हो जाता है कि वह जो कर रहे थे, वह देश और समाज के लिए ठीक नहीं था, तो फिर से हम उनके कार्यक्रम में जाना शुरू कर देंगे। खेड़ा ने कहा कि इसलिए इसको बैन कहकर मत बुलाइए। कांग्रेस नेता ने आगे कहा कि अगर कोई सड़क पर कचरा फेंकना जारी रखता है तो हमें स्वतंत्रता है कि हम रास्ता बदल लें। फिलहाल हम यही कर रहे हैं। गौरतलब है कि इंडिया गठबंधन की बायकॉट लिस्ट को भाजपा ने इमरजेंसी कहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button