देश

पौष पूर्णिमा आज, हर-हर गंगे के जयघोष संग पावन त्रिवेणी मे भक्‍तों ने लगाई आस्‍था की डुबकी

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : माघ मेला के पहले स्नान पर्व पौष पूर्णिमा पर प्रयागराज में संगम तट पर कड़ाके की ठंड के बीच आस्‍था का सैलाब उमड़ा। लाखों की संख्‍या में भक्‍तों ने हर-हर गंगे के जयघोष के साथ त्र‍िवेणी में आस्‍था की डुबकी लगाई।

Advertisement

प्रयागराज, जेएनएन। कड़ाके की ठंड और घने कोहरे के बीच त्रिवेणी तट पर संयम, संस्कार व संस्कृति के संवाहक माघ मेला 2023 का भव्य स्वरूप निखर चुका है।

Advertisement

सुबह से ही श्रद्धालुओं ने पावन त्रिवेणी में आस्था की डुबकी लगाई। हजारों गृहस्थों ने सेक्टर तीन, चार, पांच में बने गंगा घाटों पर डुबकी लगाई। संगम व अन्य तटों पर गंगा में डुबकी लगाने का क्रम भोर से आरंभ हो गया है।

रात 1.21 बजे से बुधादित्य योग का संयोग भी बना। ग्रह-नक्षत्रों की अद्भुत जुगलबंदी से स्नान पर्व का महत्व बढ़ गया है। सुबह 8.14 बजे आर्द्रा नक्षत्र व ब्रह्म योग है। इसके बाद ऐंद्र योग रहेगा।

मेला प्रशासन की ओर से संगम समेत 14 स्नान घाट बनाए गए हैं। श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए दो हजार पुलिसकमिर्यों समेत करीब पांच हजार कर्मी लगे हैं। जल पुलिस के गोताखोर 50 मोटरबोट और 100 नाव पर तैनात हैं।

मेला और शहर क्षेत्र को सात जोन व 18 सेक्टर में बांटा गया है। शहर में स्थित रेलवे स्टेशनों और बस अड्डों को विशेष जोन में शामिल किया गया है। यहां एडीएम और तथा चार एसीएम लगाए गए हैं। उनके साथ पुलिस अफसर भी तैनात किए गए हैं।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button