छत्तीसगढ़

बिलासा कला मंच का आयोजन : मूर्खाधिराज अभिषेक से सम्मानित होना भी गौरव की बात : अरुण चौहान


(शशि कोन्हेर) : बिलासपुर – बिलासा कला मंच द्वारा आयोजित 29 वें मूर्खाधिराज अभिषेक से सम्मानित होते हुए जिला पंचायत बिलासपुर के अध्यक्ष अरुण चौहान ने उक्त बातें कहते हुए कहा कि वे जनहित और समाज हित के काम करते रहेंगे।शासन की योजनाओं की लाभ जनता तक पहुंचाते रहेंगे।लगता है मेरे इन्हीं कामों को ही देखकर बिलासा कला मंच ने मुझे सम्मानित किया है।मुख्य अतिथि के रूप रेल सुरक्षा बल के उपमहानिरीक्षक डॉ भवानीशंकर नाथ ने कहा कि ये आयोजन बिलासपुर शहर के लिये गौरव की बात है। लगातार 29 वर्षों तक ऐसे आयोजन से जनता की सेवा करना बहुत बड़ी उपलब्धि है।कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए रेलवे के राजभाषा अधिकारी और मंच के संरक्षक विक्रम सिंह ने कहा कि आज के समय में अच्छा काम करना भी मूर्ख की श्रेणी में आता है लोग बिना काम करे वाहवाही लूटते हैं और बुद्धिमान तथा होशियार माने जाते हैं तो ईमानदारी से काम करने वाला मूर्ख तो माना ही जायेगा।इसीलिए ऐसे लोगों को यह सम्मान दिया जाता रहा है।मंच के संस्थापक डॉ सोमनाथ यादव ने कहा कि अब तो उन्हें मूर्ख ढूढंने में बड़ी समस्या आती है,लगता है अब मूर्ख कम होते जा रहे हैं।मंच के सदस्य पूरे वर्ष भर समाज में काम कर रहे लोगों का आकलन करके ही योग्य मूर्ख का चयन मूर्खाधिराज अभिषेक के लिए करती है।कार्यक्रम के प्रारंभ में मंच के सदस्य कलाकार सहदेव कैवर्त और उनके साथियों ने देशी फाग गाकर माहौल को होलीमय बना दिये।वरिष्ठ व्यंग्यकार राजेंद्र मौर्य के कुशल संचालन में कवि सम्मेलन आयोजित हुआ जिसमें राज्य सम्मान से सम्मानित रायपुर के मीर अली मीर ने अपनी चर्चित रचना नंदा जाही का रे गाकर लोगों का दिल जीत लिया तो धरसींवा से आये ऋषि वर्मा बैगा पहाड़ा गीत सुनाकर और अपने हास्य रचनाओं से लोगों को खूब हंसाया।भिलाई से आये हास्य व्यंग्य कवि गजराज महंत ने साली महिमा के दोहे सुनाकर अपनी कविताओं से खूब वाहवाही लूटी।कवि सम्मेलन का संचालन कर रहे राजेन्द्र मौर्य अपनी व्यंग्य रचनाओं से लोगों के मर्म को खूब कचोटा।कार्यक्रम का संचालन अध्यक्ष महेश श्रीवास और आभार प्रदर्शन सतीश पांडेय जी ने किया।कार्यक्रम में मंच के डॉ विनय कुमार पाठक,चंद्रप्रकाश बाजपेयी, राघवेंद्रधर दीवान,डॉ सुधाकर बिबे,अध्यक्ष महेश श्रीवास,अजय शर्मा, डॉ जी डी पटेल,सनत तिवारी,यश मिश्रा,रामेश्वर गुप्ता,ओमशंकर लिबर्टी,मनीष गुप्ता,विनोद गुप्ता,दिनेश्वर जाधव,आंनद प्रकाश गुप्त, मनोहरदास मानिकपुरी,महेंद्र साहू,महेंद्र गुप्ता, अश्विनी पांडे,देवानंद दुबे,विश्वनाथ राव,प्रदीप निरनेजक,महेंद्र ध्रुव,धरमवीर साहू,उमेंद् यादव,चतुर चंचल, प्रदीप कोशले, थानुराम लसहे,सहदेव कैवर्त,गोपाल यादव,अनूप श्रीवास, शरद यादव,हिलेन्द्र ठाकुर सहित शहर के गणमान्य श्रोतागण उपस्थित रहे।

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button