देश

नौसेना के अग्निवीरों का पहला बैच तैयार, 28 मार्च को पहली बार सूर्यास्त के बाद आयोजित होगी POP

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : देश की सेवा के लिए नौसेना के अग्निवीरों का पहला बैच तैयार हो गया है, जिसकी पासिंग आउट परेड (पीओपी) 28 मार्च को आईएनएस चिल्का पर होगी। पहले बैच में 2600 अग्निवीरों हैं, जिनमें 273 महिलाएं भी हैं। ट्रेनिंग के सफल समापन पीओपी के मुख्य अतिथि और समीक्षा अधिकारी नौसेनाध्यक्ष एडमिरल आर हरि कुमार होंगे। सफल प्रशिक्षुओं को समुद्री प्रशिक्षण देने के लिए सीमावर्ती युद्धपोतों पर तैनात किया जाएगा।

Advertisement

*2,600 अग्निवीर तैयार*

Advertisement

वहीं दक्षिणी नौसेना कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ वाइस एडमिरल एमए हम्पीहोली ने बताया कि नौसेना ने 273 महिलाओं सहित करीब 2,600 अग्निवीरों का चयन करके उनका प्रशिक्षण नवंबर, 2022 में आईएनएस चिल्का में शुरू किया था। समुद्री योद्धा के रूप में अग्निवीरों ने भारतीय नौसेना के नाविकों के प्रमुख प्रशिक्षण प्रतिष्ठान आईएनएस चिल्का में प्रारंभिक प्रशिक्षण के 16 सप्ताह पूरे किए।

आईएनएस चिल्का के प्रशिक्षण में कर्तव्य, सम्मान और साहस के मूल नौसेना मूल्यों के आधार पर शैक्षणिक, सेवा और बाहरी प्रशिक्षण शामिल है। इस बैच में शामिल अग्निवीर 26 जनवरी को कर्तव्य पथ पर भारतीय नौसेना की गणतंत्र दिवस परेड टुकड़ी के हिस्सा थे।

*पहली बार ऐतिहासिक पीओपी सूर्यास्त के बाद आयोजित*

उन्होंने बताया कि यह पासिंग आउट परेड प्रशिक्षुओं के लिए महत्वपूर्ण अवसर और उनके परिवारों के लिए गर्व का क्षण है। नौसेना के अग्निवीरों का यह पहला पासिंग आउट बैच है, जो सशस्त्र बलों और राष्ट्र के लिए नई शुरुआत की दिशा में महत्वपूर्ण मील का पत्थर है।

परंपरागत रूप से पासिंग आउट परेड सुबह के वक्त होती है, लेकिन भारतीय सशस्त्र बलों में पहली बार इस ऐतिहासिक पीओपी को सूर्यास्त के बाद आयोजित किया जाएगा। मुख्य अतिथि एवं समीक्षा अधिकारी नौसेनाध्यक्ष एडमिरल आर. हरि कुमार अग्निवीरों को विभिन्न श्रेणियों में पुरस्कार प्रदान करेंगे।

*महिला अग्निवीर प्रशिक्षु के लिए ‘रोलिंग ट्रॉफी’*

Advertisement

बता दें कि नौसेना ने देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) दिवंगत जनरल बिपिन रावत की याद में योग्यता के लिहाज से प्रथम रहने वाली महिला अग्निवीर प्रशिक्षु के लिए ‘रोलिंग ट्रॉफी’ शुरू की है, जो अगले बैच से दी जाएगी। यह ट्रॉफी स्वर्गीय जनरल रावत की बेटियां कृतिका और तारिनी योग्य महिला अग्निवीर को देंगी।

पहली बार पासिंग आउट परेड में प्रतिष्ठित वेटेरन नाविक भाग लेंगे, जिन्होंने अपनी सेवाकाल के दौरान और सेवानिवृत्ति के बाद के करियर में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। प्रतिष्ठित खिलाड़ियों को भी पीओपी में सम्मानित अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button