play-sharp-fill
छत्तीसगढ़

सूरजपुर में हत्या का मामला…भाजपा अपनी लड़ाई में कांग्रेस का नाम जबरिया घसीट रही.. धनंजय सिंह ठाकुर

Advertisement

(शशि कोनहेर) : रायपुर : सूरजपुर के भैयाथान दो भाजपा नेताओं के आपसी झगड़े में कांग्रेस और सरकार को घसीटना तथा इस घटना के आधार पर गृहमंत्री का पुतला जलाना भाजपा की ओछी मानसिकता है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि सूरजपुर भैयाथान में रेत को लेकर हुये विवाद से स्पष्ट हो गया कि रेत के कारोबार और रेत तस्करी में भाजपा नेताओं की अहम भूमिका है।

Advertisement

पूर्व रमन सरकार के दौरान रेत तस्करी से भाजपा नेताओं ने सिंडीकेट बना लिया था। रेत तस्करी में तत्कालीन मुख्यमंत्री रमन सिंह एवं उनके सहयोगी का संरक्षण था। 15 साल तक प्रदेश की नदियों को अवैध तरीके से रेत खनन कर दोहन किया गया।

Advertisement

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने पूर्व रमन सरकार में भाजपा नेताओं के द्वारा बनाये गये तस्करी के सिंडीकेट को तोड़कर तस्करों पर लगाम लगाया है। सूरजपुर में भाजपा नेता रेत के खेल में शामिल है एक-दूसरे के ऊपर हमला कर रहे है। छत्तीसगढ़ में किसी की भी गुंडागर्दी नहीं चलेगी, कानून सख्ती से काम करेगा।

भाजपा अपने नेताओं के रेत तस्करी को संरक्षण देने गृहमंत्री पर झूठे आरोप लगा रहे। रेत माफिया को छोड़ा नहीं जायेगा। भाजपा नेताओं के दो गुटों में वर्चस्व का झगड़ा चल रहा था जिसमें एक गुट ने भाजयूमो के एक व्यक्ति के ऊपर हमला किया इस हमले के आधार पर कानून व्यवस्था पर सवाल खड़ा कर प्रदेश के गृह मंत्री का पुतला दहन किया जाना भाजपा की ओछी और अवसरवादी मानसिकता है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा नेता नधीर पैकरा (अजा मोर्चा भाजपा मंडल अध्यक्ष ओड़गी) को भैयाथान रेण नदी रोड घाट पर रेत उत्खनन का लीज प्राप्त हुआ है। नधीर पैकरा, पूर्व गृहमंत्री रामसेवक पैकरा के गृह निवास ग्राम चेन्द्रा के निवासी और इनके रिश्तेदार है। लीज प्राप्त होने के बाद नधीर पैकरा द्वारा भाजपा नेता लवकेश पैकरा (श्री रामसेवक पैकरा के पुत्र), संजीव अग्रवाल, सावन अग्रवाल तथा कांग्रेस नेता अखिलेश प्रताप सिंह, प्रदीप राजवाडे, मुकेश अग्रवाल के साथ मिलकर रेत उत्खनन कार्य प्रारंभ कराया गया था, परंतु आपसी सहमति नहीं बनने से अपने नाम से जारी लीज को बैकुंठपुर निवासी रेत कारोबारी व भाजपा समर्थित संजय अग्रवाल से लगभग 20 लाख रू. लेकर दिया गया है।

रेत ठेकेदार संजय अग्रवाल द्वारा भैयाथान में रेत उत्खनन प्रारंभ कराये जाने पर स्थानीय ग्रामीणों द्वारा विरोध किया गया और ग्राम पंचायत भैयाथान द्वारा प्रस्ताव पारित नहीं किया गया। भाजपा नेता संजय अग्रवाल व स्थानीय भाजपा नेता राजीव सिंह के मध्य रेत उत्खनन करने को लेकर आपसी चर्चा की गई और ग्राम करकोटी में भाजयुमो मंडल अध्यक्ष भैयाथान अमन प्रताप सिंह की भूमि खसरा नम्बर 191 व 204 में रेत भण्डारण किया गया।

पास में प्रवाहित गोबरी नदी से भी बगैर परमिट के चोरी से रेत उत्खनन कर भण्डारण कराया गया था। भाजयुमो नेता अमन सिंह व इनके सहयोगियों द्वारा भण्डारण किये गये रेत को स्थानीय स्तर पर बेचा जाता था जिसकी जानकारी मिलने पर संजय अग्रवाल ने अपने सहयोगी रोहित सिंह को ग्राम करकोटी रेत भण्डारण स्थल की जांच करने व निगरानी करने निर्देश दिया था।

स्थानीय स्तर पर रेत बेचे जाने को लेकर रेत मुंशी रोहित सिंह व अमन सिंह के मध्य विवाद हुआ, जिस पर अमन सिंह व उसके तीन अन्य साथियों द्वारा रोहित सिंह से मारपीट की गई और रोहित सिंह के खिलाफ ही थाना भैयाथान में रिपोर्ट की गई, जिस पर स्थानीय पुलिस द्वारा दिनांक 24.11.2022 को इस्तगाशा क्रमांक 36/429/22 धारा 151/107, 116 (3) जा0फौ0 पर कार्यवाही करते हुए रोहित सिंह को न्यायालय में पेश किया गया, जहां जमानत नहीं मिलने से जेल भेज दिया गया। रेत मुंशी रोहित सिंह स्वयं के साथ हुए मारपीट व जेल दाखिल किये जाने के मामले से क्षुब्ध होकर अपने साथियों के साथ मिलकर अमन सिंह व उसके साथियों से बदला लेने के उद्देश्य से दिनांक 28.02.2023 को ग्राम केवटाली जंगल में रास्ता रोककर अमन सिंह व अन्य साथियों से मारपीट की गई।

Advertisement

उल्लेखनीय है कि भाजपा नेताओं के मध्य ही रेत कारोबार को लेकर आपसी रंजिश के कारण मारपीट की घटना हुई है। उक्त मामले में कांग्रेस से जुड़े नेताओं का सीधे तौर पर कोई जुड़ाव नहीं है, फिर भी भाजपा द्वारा इसे मुद्दा बनाकर राजनीतिक लाभ लेने का प्रयास किया जा रहा है। अपराधी भाजपा नेता की गिरफ्तारी भी हो गयी है तथा उसने अपना अपराध स्वीकार भी कर लिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button