देश

ममता बनर्जी ने कसा तंज…. असम की जगह बागी विधायकों को बंगाल भेजें….. अच्छी तरह करेंगे खातिरदारी

(शशि कोन्हेर) : महाराष्ट्र में जारी सियासी नाटक के बीच बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बागी विधायकों पर तंज कसा है. उन्होंने कह दिया है कि असम की जगह बागी विधायकों को बंगाल भेज देना चाहिए, उनकी अच्छी खातिरदारी की जाएगी.

Advertisement

ममता कहती हैं कि महाराष्ट्र में अभी जो हो रहा है, वो हैरत में डालने वाला है. इन विधायकों को असम की जगह बंगाल भेज देना चाहिए, हम उनकी अच्छी खातिरदारी करेंगे. सीएम आगे कहती हैं कि भारत में अब लोकतंत्र काम भी करता है, इस पर शक है. कहां है लोकतंत्र? क्या ऐसे ही चुनी हुई सरकारों पर बुलडोजर चल जाएगा? हमे लोगों के लिए न्याय चाहिए, उद्धव ठाकरे के लिए न्याय चाहिए. इनका क्या है, अभी महाराष्ट्र में सरकार गिरा रहे हैं, फिर दूसरे राज्यों में भी कोशिश करेंगे.

Advertisement

इस समय कांग्रेस और कुछ दूसरे विपक्षी दल बीजेपी पर आरोप लगा रहे हैं कि राष्ट्रपति चुनाव की वजह से महाराष्ट्र में सरकार गिराने की कोशिश की जा रही है. अब इस पर ममता भी यहीं मानती हैं कि बीजेपी के पास नंबर ही नहीं है, उसी वजह से महाराष्ट्र में सरकार को अस्थिर करने के प्रयास किए जा रहे हैं.

Advertisement

ममता बनर्जी ने यहां तक आरोप लगा दिया कि इस समय केंद्र में बीजेपी की सरकार है, इसलिए उनके विधायकों, नेताओं पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही. वे कहती हैं कि मेरी पार्टी के 200 लोगों को सीबीआई-ईडी का नोटिस दे रखा है, लेकिन बीजेपी को कुछ नहीं होता. उनके पैसे का कोई हिसाब नहीं, क्या इसे हवाला नहीं कहेंगे? क्या ये एक घोटाला नहीं है कि केंद्र में बैठी पार्टी धड़ल्ले से विधायक खरीद रही है?

सीएम ने बीजेपी को चेतावनी दी है कि भविष्य में ऐसा समय भी आएगा जब वे सत्ता में नहीं रहेंगे, जब कोई दूसरा सरकार में होगा. उनका कहना है कि आज आप सत्ता में हैं तो पैसों के साथ खेल रहे हैं, जरा सोचिए जब आप सत्ता में नहीं होंगे, तब क्या होगा?

महाराष्ट्र सियासी संकट की बात करें तो अभी भी एकनाथ शिंदे बागी विधायकों के साथ गुवाहाटी में मौजूद हैं. उनकी तरफ से शक्ति प्रदर्शन भी कर दिया गया है. अभी उनके समर्थन में कुल 42 विधायक दिख रहे हैं, इसमें शिवसेना के 35 विधायक हैं और निर्दलीय 7 बताए जा रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button