बिलासपुर

चिल्हाटी चौक में स्वतंत्रता सेनानी राव तुलाराम जी की आदमकद प्रतिमा होगी स्थापित, मगरपारा चौक में विश्वकर्मा गेट का निर्माण और सिंधी कॉलोनी गेट का होगा जीर्णोंद्धार, एम आई सी में पास किए 29 प्रस्ताव

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : बिलासपुर – महापौर के अध्यक्षता में हुई एमआईसी की बैठक में तीन समाजों को सौगात के प्रस्ताव पर मुंहर लग गई है। इसके साथ ही कुल 29 महत्वपूर्ण प्रस्ताव पास हुए है। महापौर रामशरण यादव ने सोमवार को विकास भवन के दृष्टि सभागार में एमआईसी की बैठक ली। जिसमें नगर निगम की ओर से 29 प्रस्ताव रखे गए। इसमें मोपका चिल्हाटी चौक में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी राव तुलाराम जी की आदमकद प्रतिमा की स्थापना और रोड का नामकरण करने का प्रस्ताव शामिल था। जिसे सदस्यों ने सर्वसम्मति से पास कर दिया। इसी तहर निगम अध्यक्ष शेख नजीरुद्दीन और एमआईसी सदस्य सीताराम जायसवाल की अनुशंसा पर मगरपारा चौक से तालापारा जाने वाले मार्ग पर विश्वकर्मा प्रवेश द्बार बनाने का प्रस्ताव लाया गया था। जिसे भी स्वीकृति दी गई। सिंधी समाज की मांग पर स्मार्ट सड़क वन विभाग कार्यालय के सामने जो भक्त कंवर राम प्रवेश द्बार जो क्षतिग्रस्त हो गया था, उसका जीर्णोद्धार करने का निर्णय लिया गया। बैठक में सभापति शेख नजीरुद्दीन, नगर निगम आयुक्त अजय कुमार त्रिपाठी, एम आईसी सदस्य अजय यादव, राजेश शुक्ला, बजरंग बंजारे, विजय केशरवानी, भरत कश्यप, संध्या तिवारी, परदेशी राज, पुष्पेंद्र साहू, जोन कमिश्नर सहित अन्य उपस्थित थे।

Advertisement


बिलासा ताल और जोरापारा की सड़क संवरेगी
बिलासा ताल से देवनगर तक सड़क इतनी जर्जर हो गई है जिसपर चलना दूभर हो गई है। धूल के उड़ते गुबार से नागरिक परेशान है। इन समस्यओं को लेकर बीते दिनों वहां के नागरिको ने मेयर यादव से मुलाकात की थी और अपनी व्यथा बताई थी जिसे संज्ञान में लेते हुए मेयर यादव ने बिलासा ताल से देव नगर तक 56 लाख की लागत से सड़क निर्माण का प्रस्ताव एमआईसी में लाया था। जिसे सभी सदस्यों की सहमति से मंजूर कर लिया गया। इसी तरह जोरापारा मोड़ से जोरापारा तालाब तक की जर्जर सड़क को संवारने के लिए 54 लाख का प्रस्ताव पास किया गया है। इस सड़क का भूमिपूजन 5 फरवरी को किया जाएगा।

Advertisement


कौन है राव तुलाराम जी
राव तुलाराम सिह यादव (०9 दिसम्बर 1825 -23 सितम्बर 1863) 1857 का प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के प्रमुख नेताओं में से एक थे। उन्हे हरियाणा राज्य में ’’ राज नायक’’ माना जाता है। विद्रोह काल मे, हरियाणा के दक्षिण-पश्चिम इलाके से सम्पूर्ण बिटिश हुकूमत को अस्थायी रूप से उखाड़ फेंकने तथा दिल्ली के ऐतिहासिक शहर में विद्रोही सैनिको की, सैन्य बल, धन व युद्ध सामाग्री से सहता प्रदान करने का श्रेय राव तुलाराम को जाता है।अंग्रेजों से भारत को मुक्त कराने के उद्देश्य से एक युद्ध लड़ने के लिए मदद लेने के लिए उन्होंने भारत छोड़ा तथा ईरान और अफगानिस्तान के शासकों से मुलाकात की, रूस के ज़ार के साथ सम्पर्क स्थापित करने की उनकी योजनाएँ थीं। इसी मध्य 37 वर्ष की आयु में 23 सितंबर 1863 को काबुल में युद्ध के दौरान शहीद हो गए। बिलासपुर यादव समाज के जिलाध्यक्ष शिवशंकर यादव, संरक्षक भुवनेश्वर यादव, डॉ.सोमनाथ यादव आदि की मांग पर एमआईसी सदस्य अजय यादव ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानी राव तुलाराम जी की प्रतिमा स्थापित करने की अनुशंसा कर मेयर को पत्र लिखा था जिसे मेयर ने एमआईसी में लाया।


निगम के स्कूल अंग्रेजी माध्यम में होंगे परिवर्तित
एमआईसी की बैठक में प्रस्ताव रखा गया कि शासकीय हाई स्कूल जरहाभाठा, शासकीय पूर्व माध्यमिक विद्यालय तिलक नगर, शासकीय पूर्व माध्यामिक शाला दयालबंद, शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला देवरीखुर्द को स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम में परिवर्तित की जाए मेयर इन काउसिल के सदस्यों ने इस प्रस्ताव को पास कर दिया। इसके साथ ही शासकीय बहुउद्देशीय उच्चतर माध्यमिक शाला के खेल मैदान को मिनी स्टेडियम बनाने की अनुमति दी गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button