बिलासपुर

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस: रेल पटरी किनारे ट्रैक मेंटेनरों ने किया योग, एसोसिएशन अध्यक्ष राजेंद्र कौशिक ने  कहा योग से शरीर, मन व मस्तिष्क रहता स्वस्थ्य…..


(भूपेंद्र सिंह राठौर) : बिलासपुर – अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर बिलासपुर रेल मंडल का मैदानी अमला ट्रेकमेंटेनरों ने योग किया। फील्ड में पहुंचने के बाद ट्रैक किनारे एक हुए इसके बाद योगाभ्यास किया। समूह में मौजूद  ट्रैकमेंटेनर एसोसिएशन बिलासपुर जोन के संस्थापक अध्यक्ष एवं ऑल इंडिया रेलवे ट्रैकमेंटेनर यूनियन के राष्ट्रीय सहायक महामंत्री राजेंद्र कुमार कौशिक ने कहा योग ऐसी शक्ति है। जिससे शरीर के हर हिस्से को को ऊर्जा मिलती है। मन व मस्तिष्क शांत रहता है। तनाव नजदीक भी नहीं आता।

Advertisement


अंतररष्ट्रीय योग दिवसर में शहर में कई कार्यक्रम हुए। रेलवे का मुख्य कार्यक्रम नार्थ इंस्टीट्यूट मैदान में हुआ। जहां अधिकारी व कर्मचारियों के अलावा उनके स्वजन बड़ी संख्या में मौजूद थे। रेलवे में ट्रैकमेंटेनरों को फील्ड स्टाफ कहा जाता है। इनकी बदालैत ही ट्रेन सुरक्षित पटरियों पर चलती है। इन्होंने भी अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर आनड्यूटी योग कर यह संदेश दिया की स्वास्थ्य के लिए यह बेहद जरुरी है। बिलासपुर रेलवे यार्ड में ट्रैकमेंटेनों की एसोसिएशन के अध्यक्ष संस्थापना अध्यक्ष कौशिक ने अगुवाई की। इस अवसर पर उनका कहना था कि योग भारती सभ्यता की देन है। यह ऐसी शक्ति है, जिससे शरीर के हर हिस्से के साथ-साथ मन और मस्तिष्क भी ऊर्जावान एवं तंदुरुस्त होता है। जहां एक ओर योग सारे रोगों से निजात दिलाता है। वहीं दूसरी ओर योग करने वालों के लिए वैश्विक महामारी कोविड-19 का असर भी नहीं पड़ता। दो साल तक इसे न केवल लोगों ने महसूस किया, बल्कि खुद प्रैक्टिकल कर देखा। इसलिए उन्होंने सभी ट्रैकमेंटेनर साथियों से विशेष अपील की और नियमित दिन में कम से कम 30 मिनट का समय निकालकर योग करने के लिए कहा। खुद योग करें और स्वजन, मित्रों सभी को इसके लिए प्रेरित करें। इससे शरीर स्वस्थ्य रहेगा और उन्हें किसी तरह की परेशानी नहीं होगी। वैसे तो ट्रैकमेंटेनेंर जीतोड़ मेहनत करेंगे। पर योग से अलग ऊर्जा मिलती है।

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button