देश

डिप्टी सीएम समेत 12 बीजेपी नेताओ की बढ़ी सुरक्षा…..

(शशि कोन्हेर) : अग्निपथ योजना को लेकर राज्य में हो रहे हिंसक प्रदर्शन और बवाल को देखते हुए डिप्टी सीएम रेणु देवी, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल समेत बिहार भाजपा के 10 नेताओं की सुरक्षा बढ़ाई गई है।

Advertisement

गृह मंत्रालय के निर्देश पर भाजपा नेताओं को वाई श्रेणी की सुरक्षा दी गई है, जिसके बाद भाजपा नेताओं की सुरक्षा में बिहार पुलिस के साथ अब केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवान भी तैनात किए गए हैं।

Advertisement

जिन भाजपा नेताओं को सीआरपीएफ की सुरक्षा मिली है, उसमें उप मुख्यमंत्री रेणु देवी, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल, बिस्फी विधायक हरिभूषण ठाकुर बचौल, दरभंगा विधायक संजय सरावगी, छपरा विधायक सीएन गुप्ता, दीघा विधायक संजीव चौरसिया, विधान पार्षद अशोक अग्रवाल, विधान पार्षद दिलीप जायसवाल, पूर्णिया विधायक विजय खेमका और दरभंगा के सांसद गोपाल जी ठाकुर शामिल हैं। इसके अलावा कुछ अन्य नेताओं की भी सुरक्षा बढ़ाई गई है।

Advertisement

बता दें कि अग्निपथ योजना को लेकर राज्य में चल रहे विरोध के बहाने बिहार भाजपा अध्यक्ष डा. संजय जायसवाल ने प्रशासन की कार्यशैली पर सवाल उठाए हैं। शनिवार को पटना में भाजपा प्रदेश मुख्यालय में पत्रकारों से बात करते हुए संजय ने कहा कि सुनियोजित ढंग से साजिश करते हुए बिहार को बदनाम किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि छात्रों के विरोध के दौरान पुलिस की भूमिका ठीक नहीं रही। तीन जिलों में बीजेपी कार्यालय को जला दिया गया और पुलिस मौन रही। कहीं लाठी चार्ज नहीं किया गया। पांच दिनों से विरोधी दलों के द्वारा छात्रों को भड़काया जा रह है। बिहार में बीजेपी को टारगेट किया जा रहा है। संजय जायसवाल ने कहा कि जैसा विरोध बिहार में हो रहा है वह पूरे देश में कहीं नहीं हो रहा।

उन्होंने कहा कि अगर राज्य की पुलिस सक्रिय रहती तो यह नौबत नहीं आती। उन्होंने कहा कि खास एजेंडे के तहत बिहार को तबाह करने की साजिश की जा रही है। संजय ने कहा कि बिहार में प्रदर्शन के बहाने भाजपा को जिस तरह टारगेट किया गया वह सवाल खड़ा करता है।

संजय ने कहा कि हमने इस मुद्दे पर डीजीपी और गृह सचिव से बात की है। संजय ने कहा कि अग्निपथ योजना का लाभ नौजवानों को मिलगा। सेंटर फोर्स में अभ्यर्थियों को आरक्षण दिया जाएगा।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button