राजनांदगांव

महापौर एवं युवा आयोग के अध्यक्ष द्वारा हल्दी में अखाड़ा भवन का लोकार्पण

Advertisement

(उदय मिश्रा) : राजनांदगांव – नगर विकास की कडी में वार्डाे में कराये जा रहे विकास कार्याे के तहत नगर निगम द्वारा वार्ड नं. 51 हल्दी में अधोसंरचना मद अंतर्गत 7.50 लाख रूपये की लागत से अखाड़ा भवन का निर्माण किया गया । जिसका आज नाग पंचमी पर्व के अवसर पर महापौर हेमा सुदेश देशमुख एवं युवा आयोग के अध्यक्ष जितेन्द्र मुदलियार द्वारा वार्ड में आयोजित कार्यक्रम में विधिवत फीता काटकर,पट्टीका का अनावरण कर लोकार्पण किया गया। कार्यक्रम में नेताप्रतिपक्ष किशुन यदु, महापौर परिषद के प्रभारी सदस्य उपस्थित थे। लोकापर्ण के पूर्व वार्ड के विश्वनाथ साहू, सोहन साहू, मन्नु देवांगन, रूपलाल साहू, भुखन सोनवानी, डिम्पल श्रीवास, पूर्णिमा साहू, केमीन साहू, देविका साहू, उत्तरा मानिकपुरी द्वारा अतिथियों का पुष्पगुच्छ से स्वागत किया गया। तत्पश्चात अतिथियों द्वारा नागदेवता एवं हनुमान जी की पूजा कर नव निर्मित अखाड़ा भवन का लोकार्पण किया गया।

Advertisement


महापौर देशमुख ने अपने संबोधन में नागपंचमी की बधाई देते हुये कहा कि आज इस पावन पर्व पर अखाड़ा भवन का लोकार्पण हो रहा है। यह अत्यंत खुशी का पल है, अखाड़ा भवन बनने से अभ्यास करने बहुत में बहुत सुविधा होगी। उन्होंने कहा कि आज के युग में अखाड़ा विलुप्त हो रहा है जिसे हल्दी वालों ने सहेजकर रखा है, मैं चाहती हूँ कि वार्ड के बच्चे भी अखाड़ा का प्रदर्शन करे, क्योकि तंदुरूस्ती का यह सबसे बड़ा माध्यम है। इसी प्रकार विकास के कार्य प्राथमिकता के आधार पर वार्ड में कराये जायेगे।

Advertisement


युवा आयोग के अध्यक्ष जीतू मुदलियार ने भी नागपंचमी की बधाई देते हुये कहा कि अखाड़ा का अच्छा प्रदर्शन हल्दी में देखने को मिला, आप लोग इसी प्रकार अखाड़ा का प्रदर्शन कर हल्दी का नाम रोशन करे और लोगो को भी इससे जोड़े। वार्ड में मेरे स्तर का जो भी कार्य रहेगा उसे मै पूरा करने का भरसक प्रयास करूंगा। नेता प्रतिपक्ष किशुन यदु ने भी अपनी शुभकामनाएं दी। कार्यक्रम में अखाड़ा का प्रदर्शन किया गया एवं अतिथियों को शाल, श्रीफल व स्मृति चिन्ह से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में स्वागत भाषण वार्ड पार्षद केवल साहू ने, आभार प्रदर्शन डॉ. सचिन ने एवं संचालन पूर्व पार्षद रूपेश साहू ने किया। इस अवसर पर अभियंता दिलीप मरकाम सहित वार्डवासी उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button