बिलासपुर

फेसबुक लाइव कार्यक्रम में अमर अग्रवाल ने कहा….सत्ता संरक्षण में रेत, खनन और भू माफियाओं का न्यायधानी में बोल-बाला..! ।

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : बिलासपुर। भाजपा नेता व पूर्व मंत्री श्री अग्रवाल ने फेसबुक लाइव कार्यक्रम अपनो से अपनी बात में कि कोरोना महामारी के प्रबंधन हेतु जारी दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान का सफलतापूर्वक निष्पादन हेतु प्रधानमत्री जी का हार्दिक आभार व्यक्त करते हुए कहा कि भारत सरकार की दूरदर्शिता का परिणाम है कि तमाम चुनोैतियो के बावजूद महामारी के वैश्विक संक्रमण की दर में तेजी के बाद भी देश में तुलनात्मक रूप से डेथ कंट्रोल में है। महामारी का वाइरस नये नये स्वरूपो में सामने आ रहा है। इसलिए कोरोना प्रोटोकॉल का पालन एवं टीकाकरण ही बचाव का सर्वाेत्तम उपाय हैं देश में 70 प्रतिशत से अधिक लोगो को टीके की दोनों डोज लगाई जा चुकी है । श्री अग्रवाल ने समस्त पात्र हितग्राहियों को देश हित मंे शत प्रतिशत टीकारकण कराने की अपील की।
भाजपा नेता श्री अग्रवाल ने राज्य के मंत्री श्री डहरिया और कांग्रेस जनों के द्वारा विगत 9 जनवरी को खुद की विधानसभा क्षेत्र आरंग के मतदाताओं एवं ग्राम वासियों से दुर्व्यवहार एवं मारपीट को निन्दनीय बताया। श्री अग्रवाल ने कहा क्षेत्र वासियों द्वारा विकास के लिए पेयजय सुविधा की मांग पर सरकार के मंत्री द्वारा ग्रामवासियों पर थप्पड़ जड़ना और उलटे उनके विरूद्ध रिपोर्ट लिखवाना अलोकतांत्रिक एवं अशोभनीय कृत्य है एवं छत्तीसगढ़ के इतिहास में किसी मंत्री द्वारा की गई पहली घटना है।
श्री अग्रवाल ने कहा सरकार ने अपनी घोषणा पत्र में शराब बंदी की बात कही थी, लेकिन महामारी के काल में भी दवा की जगह दारू का धंधा सरकार के प्राथमिकता मंे रहा। महामारी के नाम पर शराब पर दिये जा रहे सेस का कोई हिसाब किताब नहीं है, 4000 करोड़ के राजस्व हानि का सरकार को हिसाब देना चाहिए। अवैध शराब के कारोबार का प्रदेश में बोलबाला है। शराब बंदी के नाम पर टाल-मटोल की जा रही है। अवैध शराब की रोकथाम के लिए सरकार शिक्षकों की ड्यूटी लगाने की बात कर रही है। वास्तव में सरकार की नियत में खोंट है। शराब बंदी का वादा निभाने की बजाय अध्ययन रिपोर्ट के हवाले से नकली जहरीली और अवैध शराब का अंदेशा जता कर बहाना बनाया जा रहा है। शराब बंदी की घोषणा जनता का वोट लुभाने तक ही सीमित थी।
श्री अग्रवाल ने कहा पिछले दिनों घोषित रोजगार मिशन नया चुनावी हथकंडा है। एक तरफ तो सरकार रोजगार की बातें करती है दूसरी ओर सैंकड़ों आयुषमान मित्रों को नौकरी से निकाला जा रहा है। बेरोगारी भत्ता युवाओं को वादा करके दिया नहीं जा रहा है, सरकार के दोहरे चरित्र से लाखांे कर्मी खुद को ठगा हुआ महसुस कर रहे हैं, केन्द्रीय कर्मियों के बराबर 31 प्रतिशत डी ए की मांग पूरी करने के बजाए सरकार सप्ताह के कार्य दिवसों में छुट्टी बढा कर केन्द्र की नकल कर रही है। प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल राज्य के आर्थिक माडल को देश का सबसे बेहतर माडल बताते हैं किन्तु यथार्थता में स्थितियां विपरित हैं। सरकार की आर्थिक स्थिति देश में सबसे अच्छी है तो शासकिय सेवकों को डी ए का लाभ मिलना चाहिए।
उन्होनें कहा कि न्यायधानी में जमीन माफियाओं ने कानून को अपने सिकंजे में ले रखा है। मुख्यमंत्री के चेतावनीयों का अफसरों पर कोई असर नहीं पड़ता। बिलासपुर को भू माफियाओं की राजधानी बना दिया गया है। जमीनें उड़ रही हैं, मोपका में 300 करोड़ रूप्ये की जमीन घोटाले की जांच में खेल चल रहा है। दर्रीघाट डकैती कांड की घटना की वास्तविक सच जनता के सामने आना चाहिए, जिससे यह मालूम हो सके किस कदर सत्ता के संरक्षण में खिलवाड़ जारी है। डकैती के पीछे भी जमीनां की अफरा तफरी मुख्य पृष्ठ भूमि है। उन्होंने कहा पूरे प्रदेश में खनिज माफिया जल संसाधनों को दोहन कर रहे हैं। बिलासपुर जिले में घुटकू के निकट नदी किनारे बिजली टावर का बेस रेत की बोरियों का बनाया गया है। जिसके गिर जाने से क्षेत्र में अंधेरा छा जाने की खतरा बना हुआ है। विभाग के लोग दोषियों को सजा देने के बजाय रिटेंनिंग वाल का निर्माण करके जनता की गाढ़ी कमाई के पैसे का अपव्यय कर रहें हैं। प्रदेश की सार्वजनिक और जन उपयोगी संपत्ति को बरबाद करने में प्रदेश सरकार चुप्पी साधे बैठी है। अधिकारी मंत्री केवल बयान देते हैं, जनता त्रस्त है। तमाम करतूतों पर रोक नहीं लगाये जाने से किसी दिन अप्रत्याशित घटना हो सकती है।
श्री अग्रवाल ने मिसाबंदियों की पेंशन बहाल करने का माननीय उच्च न्यायालय द्वारा दिये गये फैसले को ऐतिहासिक बताते हुए इसे कांग्रेस की सरकार के लिए सबक बताया। उन्होने कहा दमन और बदले की दृष्टि से की गयी कार्यवाही और किये गए फैसले इसी तरह न्याय की कसौटी पर कसे जायेंगे और कांग्रेस को हमेशा मुंह की खानी पड़ेगी।
श्री अग्रवाल ने कहा फेसबुक लाईव कार्यक्रम में बिलासपुर की जनता को बधाई देते हुए कहा कि आने वाले दिनों में भारतीय जनता पार्टी के शासन काल में व्यवस्थित नगर नियोजन की दृष्टि से आरंभ किये गये तिफरा फ्लाईओवर निर्माण कार्य, व्यापार विहार में प्लेनेटोरियम केन्द्र एवं स्मार्ट सड़क का बहुप्रतिक्षित लोकार्पण किया जाने वाला है, जिससे बिलासपुर की जनता को भाजपा शासन काल में कतिपय अधुरी रह गई सेवाओं और सुविधाएं भी सुलभ हो सकेगी।

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button