छत्तीसगढ़

अचानक ट्रेन में हो जाए तबीयत खराब तो कैसे पाएं इलाज? जानिए क्या है तरीका

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : असमय तबीयत खराब हो जाना कोई नई बात नहीं है। खासतौर पर जब आप ट्रेन में सफर कर रहे हों.. ऐसे में यह स्थिति काफी परेशानी भरी होती है। आपको इस बात की चिंता सताने लगती है कि चलती ट्रेन में आपको चिकित्सा मुहैया कैसे हो पाएगी? हमेशा इस बात का डर रहता है कि वक्त पर इलाज और दवाइयां नसीब नहीं हो पाईं तो स्थिति और बिगड़ सकती है।

Advertisement

ऐसे कई मामले सामने आए हैं जहां पर मरीज ट्रेन में सफर कर रहा है और उसे वक्त पर चिकित्सकीय सलाह ना मिलने के कारण उसकी तबीयत खराब हो जाती है और यहां तक कि उसकी मौत भी हो जाती है, तो ऐसी सिचुएशन में आप क्या करेंगे?

Advertisement

हालांकि, ट्रेन में एक डॉक्टर जरूर मौजूद होता है मगर कुछ आसान से स्टेप के जरिए आप ट्रेन में मौजूद डॉक्टर से कनेक्ट हो सकते हैं और अपना इलाज समय पर करवा सकते हैं आइए जानते हैं उन स्टेप्स के बारे में..

ट्रेन में कैसे बुलाएं डॉक्टर?

ट्रेन में तबीयत खराब होने की स्थिति में सबसे पहले रेलवे की हेल्पलाइन नंबर 138 पर कॉल करें अगर 138 पर कॉल नहीं लगता है तो आप 9794834924 इस नंबर पर कॉल करें। इसके बाद ट्रेन के मैनेजर या टीटीई को तुरंत इस बारे में बता दें। उल्लेखनीय है कि टीटीई और डॉक्टरों को इमरजेंसी की सभी ट्रेनिंग दी जाती है। ऐसे में अगर बीमार व्यक्ति का ट्रीटमेंट करने से मना किया जाता है, तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाती है।

सोशल मीडिया का भी कर सकते हैं इस्तेमाल
ट्रेन में तबीयत खराब हो जाने पर आप ट्विटर पर IRCTC को टैग करते हुए अपना PNR और बाकी डिटेल्स फिल कर अपनी तबीयत की जानकारी दे सकते हैं। ऐसा करने से डॉक्टरों को इमरजेंसी से दौरान सीधे आप तक पहुंचने में मदद मिलेगी।

रेलवे इमरजेंसी और यात्रियों की सहायता के लिए 162 ट्रेनों में नए वाले मेडिकल बॉक्स की भी सुविधाएं देता है। इसमें 58 तरह की दवाइयां, फर्स्ट एड से जुड़ी हर जरूरी चीज पैसेंजर के लिए मुहैया कराई गई है। इन स्टेप्स को फॉलो करेंगे तो आप तुरंत डॉक्टर के संपर्क में आ सकेंगे। साथ ही इमरजेंसी के दौरान जरूरी दवाइयों तक भी पहुंच बना सकेंगे। हालांकि, ट्रेन में डॉक्टर को बुलाने के लिए अपनी जेब भी ढीली करनी पड़ेगी। ट्रेन में डॉक्टरों की फीस को 5 गुना तक बढ़ा दिया गया है।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button