play-sharp-fill
देश

हाई रिस्क पर है Google Chrome यूजर्स,  अपडेट करें ब्राउजर

Advertisement

Google ने हाल ही में macOS, Windows और Linux पर अपने Chrome ब्राउज़र के लिए एक महत्वपूर्ण सुरक्षा अपडेट जारी किया है। यह अपडेट CVE-2023-6345 के रूप में पहचानी गई जीरो-डे बग के रूप में डिज़ाइन किया गया है। यह बग हमलावरों को प्रभावित डिवाइस को कंट्रोल हासिल करने की अनुमति दे सकता है। Google ने सभी Chrome यूजर्स से अपने ब्राउज़र को तुरंत अपडेट करने का आग्रह किया है।

Advertisement

Google ने CVE-2023-6345 बग के बारे में अधिक डिटेल्स नहीं दी है, जिसे पिछले सप्ताह Google के खतरा रिसर्चर्स समूह (TAG) में सुरक्षा रिसर्चर्स द्वारा खोजा गया था। यह अलर्ट तकनीकी कंपनियों के बीच आम है, क्योंकि जानकारी संभावित रूप से हमलावरों को कमजोर क्रोम इंस्टॉलेशन का फायदा उठाने में सहायता कर सकती है। एंड्रॉयड सेंट्रल की रिपोर्ट के अनुसार, गूगल पर ये शोषण कौन कर रहा है इसकी जानकारी अभी नही मिली है।

Advertisement

वह यह है कि CVE-2023-6345 एक इन्टिजर ओवरफ्लो कमजोरी है जो क्रोम ग्राफिक्स इंजन के भीतर एम्बेडेड ओपन-सोर्स 2D ग्राफिक्स लाइब्रेरी को प्रभावित करती है। सैंडबॉक्स से बचना एक गंभीर ख़तरा है क्योंकि इससे मनमाने ढंग से कोड एक्सीक्यूट और डेटा चोरी हो सकती है, जिससे क्रोम ब्राउज़र की सुरक्षा और उपयोगकर्ता की संवेदनशील जानकारी से समझौता हो सकता है। अगर फ्रॉडस्टर आपके डिवाइस तक पहुंच जाते हैं तो वो आपके डेटा को चुरा सकते हैं या आपका डेटा हेरफेर कर सकते हैं।

कैसे रहे सेफ
चूँकि इस बग की डिटेल्स अभी पता नहीं चली है, इसलिए यूजर्स से आग्रह किया जाता है कि वे बग से जुड़े संभावित जोखिमों को कम करने के लिए अपना गूगल क्रोम अपडेट करते रहे। Google ने पहले ही बग के लिए समाधान जारी कर दिया है और यूजर्स को अपने ब्राउज़र को अपडेट करने के लिए कहा है।

जिन यूजर्स ने अपने क्रोम ब्राउज़र में आटोमेटिक अपडेट का ऑप्शन चुना हुआ है, उनका ब्राउज़र अपने आप अपडेट हो जाएगा। लेकिन जिन्होंने ऐसा नही किया हुआ वो नीचे दिए गए प्रोसेस को पढ़कर अपना गूगल क्रोम अपडेट कर लें।

Google Chrome अपडेट करें
Chrome को मैन्युअल रूप से अपडेट करने के लिए, इन स्टेप का पालन करें:
> Chrome सेटिंग तक पहुंचें।
> “क्रोम के बारे में” टैब पर क्लिक करें।
> “अपडेट Google Chrome” ऑप्शन ढूंढें और उस पर क्लिक करें।
> यदि अपडेट विकल्प दिखाई नहीं देता है, तो यह इंगित करता है कि ब्राउज़र पहले से ही लेटेस्ट वर्जन पर है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button