देश

गोधरा कांड.. ट्रेन के कारसेवको वाले डिब्बे में आग लगाने के आरोपी को मिली ये सजा…19 साल तक था फरार..!

(शशि कोन्हेर) : गुजरात के गोधरा कांड के आरोपी रफीक हुसैन भटुक को गोधरा की कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई है. गोधरा कांड का आरोपी 19 साल से फरार चल रहा था, जिसे गोधरा पुलिस ने पिछली साल गिरफ्तार कर लिया था।

Advertisement

इस मामले में गोधरा की सत्र अदालत ने सुनवाई करते हुए आरोपी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. रफीक पर मर्डर और दंगा भड़काने के चार्ज लगे थे.

Advertisement

विशेष लोक अभियोजक आरसी कोडेकर ने बताया कि गोधरा में ट्रेन के डिब्बे में आग लगाने का आरोपी अपराधी रफीक हुसैन भाटुक पिछले 19 साल से फरार था. जिसे पुलिस ने बीते साल गिरफ्तार किया था.

Advertisement

गोधरा कांड का प्रमुख आरोपी रफीक हुसैन भटुक साल 2002 से फरार था. 27 फरवरी 2002 को गोधरा स्टेशन पर साबरमती एक्सप्रेस ट्रेन के एक कोच में भीड़ ने आग लगा दी गई थी. इस घटना में 59 कारसेवकों की जलकर मौत हो गई थी. इसी के बाद गुजरात में 2002 के दंगे हुए थे.

रफीक को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने बताया था कि ट्रेन के कंपार्टमेंट को जलाने के लिए पेट्रोल का बंदोबस्त करना, भीड़ को उकसाना और पूरी साजिश रचने में रफीक हुसैन का बड़ा हाथ था. उसके ऊपर मर्डर और दंगा भड़काने के चार्ज लगे हैं।

पुलिस ने ये भी बताया था कि जब हिंसा के दौरान रफीक हुसैन उस वक्त एक मजदूर के तौर पर स्टेशन पर काम करता था. जब ट्रेन आने पर पत्थर फेंके गए और पेट्रोल छिड़का गया, तो ये भी उनमें से एक था. लेकिन उस घटना के बाद रफीक हुसैन यहां से भाग गया और दिल्ली के आसपास रहने लगा था.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button