गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाहीछत्तीसगढ़

वन विभाग के रेंजर तथा उनकी टीम पर रेत माफिया ने किया हमला, वन कर्मचारी संघ ने दिया समर्थन……

(सुहैल आलम ) : गौरेला पेंड्रा मरवाही – गौरेला वन परिक्षेत्र अधिकारी नरेश चंद्र देव नाग अपने स्टाफ के साथ थाना गौरेला में उपस्तिथ आकर रिपोर्ट दर्ज कराए की मंगलवार रात्रि लगभग 10 बजे मुखबीर से सूचना मिली की परिसर चुक्तीपानी बास प्लाट कक्ष क्रमांक 2290 मलनिया नाला में 03 नग ट्रैक्टर ट्राली सहित रेत भर रहे है , सूचना पाकर तत्काल पहुंचे साथ में एवं वनकर्मचारी दीपक सिदार वनरक्षक, रामलाल सुरक्षा श्रमिक, वाहन चालक अखिलेश साहू , को साथ लेकर गौरेला से मलनिया नाला की ओर निकला ।

Advertisement

घटना स्थल पर पहुंचते ही ट्रैक्टर चालक रेत भरा ट्रैक्टर ट्राली सहित तेजी से भागने लगे जिसका पीछा करते परिसर जलेश्वर कक्ष क्रमांक पीएफ 2286 दुर्गाधारा के पास पकड़े रात्रि 12.20 बजे होने के कारण रेंजर द्वारा धरमपानी रेस्ट हाऊस में वाहन सुरक्षित रखवाने हेतु कहा गया । किन्तु ट्रेक्टर चालक के द्वारा असहयोग करते हुये ट्रेक्टर का लाईट एवं वायर से छेड़छाड़ कर गुमराह करते हुये ट्रेक्टर को बीच घाट में खड़ी कर दिया गया । किसी तरह ट्रेक्टर को स्टार्ट करावाकर , अपने शासकीय वाहन की लाईट के प्रकाश से ट्रैक्टर को धरमपानी वन ले जाने को कहा गया लगभग 100 मीटर पहले ट्रैक्टर चालक वाहन चलाते हये किसी व्यक्ति से मोबाईल से बात करते हुये आगे – आगे चल रहा था ।

Advertisement

शासकीय वाहन में बैठे शासकीय वनकर्मचारियों को गंभीर चोट पहुंचाने के उद्देश्य से अचानक ट्रेक्टर को रोड में अड्डा दिया गया , एवं ट्रेक्टर वाहन चालक जंगल की ओर भागने लगा । जिसे वनकर्मचारियों के द्वारा भागते हुये ट्रैक्टर चालक को दौड़कर पकड़ा गया और धरमपानी पहुंचाया गया पहुंचकर विभागीय कार्यवाही कर रहे थे कि 04-05 मोटर सायकल से लगभग 15 से 20 लड़के ग्राम पकरिया निवासी गोलू पिता मोहन यादव , बिक्कू पिता सुधराम गोंड मस्तु पिता उत्तम राठौर , राहुल पिता रमेश्वर पनिका , एवं अन्य लड़के रात लगभग समय 02:00 बजे ग्राम पकरिया से पहुंचकर दादा गिरी करते हुये शासकीय कार्यवाही में बाधा डालते हुये एवं वनकर्मचारियों से अश्लील गाली गलौच व जान से मारने की धमकी देते हुये ,रेंजर नाग के साथ अभद्र व्यवहार किया एवं धमकी दिया व दीपक सिदार वनरक्षक से मारपीट किया जिससे दीपक सिदार वनरक्षक के सिर एवं चेहरे में चोट आयी है . सुरक्षा श्रमिक रामलाल से मारपीट किया , वाहन चालक अखिलेश साहू से भी मारपीट किया , जिससे अखिलेश साहू के कमर में चोट है ।

Advertisement

साथ ही उक्त अपराध की समस्त कागजी कार्यवाही का दस्तावेज एवं विभागीय टार्च जिसकी लगभग 11000 रुपए का है , जिससे आरोपियों के द्वारा छिनकर अपने कब्जे में ले लिया गया एवं अपने समूह के फायदे उठाते हुये समस्त वन अधिकारी / वनकर्मचारियों को बंधक बनाकर बल पूर्वक अपराधियों के द्वारा अवैध दस्तावेज तैयार कर बल पूर्वक उक्त दस्तावेज में अधिकारी एवं कर्मचारियों का हस्ताक्षर करवाया गया मौके पर धरमपानी में कार्यरत कर्मचारी राजेन्द्र कौशिक सुरक्षा श्रमिक एवं अन्य मौजूद थे । रेत से भरी ट्रेक्टर को रेंजर के कहने पर धरमपानी में सुरक्षित रखा गया था ।

किन्तु ट्रेक्टर को अपराधियों के द्वारा खालीकर जबरजस्ती अपने साथ पकरिया की ओर ले जाया गया , उक्त कृत्य से रेंजर के अधिनस्थ वनकर्मचारी बहुत व्यर्थीत एवं असहाय महसूस कर रहे है । क्योकि वनकर्मचारी बिना किसी सुरक्षा संसाधान के अपने परिसरों की सुरक्षा दिन – रात करते हैं ।

यदि उक्त अपराध में संलिप्त अपराधीयों के विरूद्ध न्यायालीन कार्यवाही नहीं की जाती तो अपराधीयों का हौसला बुलन्द होगा एवं वनों की सुरक्षा करने में अनेका कठानाईयों का सामना वनकर्मचारियों को करना पड़ेगा । जिस पर रेंजर नरेश देव नाग की रिपार्ट पर धारा 186, 332, 353, 294, 506, 323, 34 भादवि पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया दौरान विवेचना आरोपियों की पतासाजी की जा रही है।

वन कर्मचारी संघ के जिला अध्यक्ष ने आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी नही होने पर आंदोलन की चेतावनी भी दी।

विगत रात हुए वनकर्मियो के ऊपर हुई हमले से जिला अध्यक्ष वनकर्मी संघ ने कहा की जिस तरह से लगातार वन कर्मियों पे हमले हो रहे है कि निंदा की ओर आरोपियों को जल्द से जल्द पकड़ने की मांग भी की जिस पर गौरेला थाना प्रभारी युवराज तिवारी ने ने जल्द कार्यवाही करने का आश्वाशन भी किया।

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button