जशपुर

मतांतरण के बाद भी, आरक्षण का लाभ लेने वाले आदिवासियों का विरोध….

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : जशपुर – जिले में मतांतरण के बाद भी आरक्षण का लाभ लेने वाले आदिवासियों के विरोध जनजातीय सुरक्षा मंच और वनवासी कल्याण आश्रम के पदाधिकारियों ने मोर्चा खोल दिया है। इसी मुद्दे को लेकर 30 अप्रैल को दिल्ली में सेमिनार आयोजित किया गया है. जिसमें जशपुर जिले से पूर्व मंत्री गणेश राम भगत सहित बड़ी संख्या में छत्तीसगढ़ के पदाधिकारी उपस्थित रहेंगे।

Advertisement

आदिवासियों के हितों की रक्षा के लिए काम करने वाला प्रमुख संगठन वनवासी कल्याण आश्रम के जिला अध्यक्ष रोशन प्रताप सिंह ने बताया कि आदिवासी संस्कृति से अलग होने वाले मतांतरित लोगों को आरक्षण सूची से बाहर करने के लिए अब गांव गांव में विरोध का स्वर तेज हो गया है। उन्होंने बताया कि इसी मुद्दे पर 30 अप्रैल को दिल्ली में राष्ट्रीय सेमीनार आयोजित किया गया है। इसके बाद 27 मई को जशपुर जिले में विशाल रैली के साथ विरोध प्रदर्शन किया जाऐगा।

Advertisement

आदिवासी संस्कृति से अलग होने वाले मतांतरित लोगों को आरक्षण सूची से बाहर करने के लिए अब जशपुर, कोरबा, सरगुजा जिले के गांव गांव में बैठकों का दौर शुरू हो गया है। इसमें वनवासियों द्वारा एकजुट होकर इस लड़ाई को उसके अंजाम तक पहुंचाने का संकल्प लिया जा रहा है।

जनजातीय सुरक्षा मंच के सरंक्षक रामप्रकाश पांडेय ने बताया कि आदिवासी संस्कृति से अलग होने वाले मतांतरित लोगों को आरक्षण सूची से बाहर करने की काफी पुरानी मांग है.दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय सेमिनार काफी महत्वपूर्ण मंच है। इसमें सकारात्मक समाधान होने की संभावना है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button