छत्तीसगढ़

कैंसर जागरूकता को लेकर परिचर्चा संपन्न

Advertisement

(रामप्रसाद गुप्ता) : 25 जनवरी को संजीवनी कैंसर केयर फाउंडेशन द्वारा कैंसर जागरूकता संबंधी आम जनों को जानकारी देने हेतु मनेंद्रगढ़ में प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया। इस प्रेसवार्ता को मेडिकल ऑन्कोलॉजिस्ट डॉ राकेश मिश्रा और  सर्जिकल ऑन्कोलॉजिस्ट डॉ दिवाकर पांडेय द्वारा संबोधित किया गया ।

Advertisement


डॉ दिवाकर पाण्डेय और डॉ राजेश मिश्रा ने पत्रकार वार्ता में बताया की संजीवनी कैंसर हॉस्पिटल में कैंसर  चिकित्सा की अत्याधुनिक सुविधा उपलब्ध है ।संजीवनी कैंसर हॉस्पिटल में एक ही छत के नीचे कैंसर सर्जरी कीमोथेरपी रेडियोथेरेपी न्यूक्लियर मेडिसिन और रोबाटिक्स सर्जरी की सुविधा उपलब्ध है ।

Advertisement

डॉ दिवाकर पाण्डेय ने बताये की संजीवनी कैंसर फॉउन्डेशन द्वारा समय समय पर निःशुल्क कैंसर स्क्रीनिंग कैंप और कैंसर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है ताकि आम जनों के मन में कैंसर को लेकर जो भ्रांतिया है उसको दूर करके उनको सही इलाज के लिये प्रेरित किया जाता है ।डॉ राकेश मिश्रा ने बताया की कैंसर के बारे में जानकारी पाने का सबसे बेहतर तरीका डॉक्टर से सलाह लेना ही है।

यदि आप इनमें से किसी भी लक्षण को नोटिस करते हैं और वे गायब नहीं होते हैं, तो समय आ गया है कि आप डॉक्टर से जाकर चेकअप कराएं और परामर्श लें।
डॉ दिवाकर पांडेय ने बताया की कैंसर किसी को भी हो सकता है और शरीर के किसी भी हिस्से में कभी भी हो सकता है तो हमें कैंसर के आम लक्षणों के बारे में जागरूक रहना चाहिए जिससे की आपके चिकित्सक आपका त्वरित एवं सम्पूर्ण इलाज कर सकें।

उन्होंने बताया की बिना वजह वजन का घटना, बुखार, थकान, दर्द, त्वचा में परिवर्तन, मलमूत्र की आदतों या मूत्राशय के कार्य में परिवर्तन, घाव का ठीक नहीं होना, असामान्य रक्तस्राव या डिस्चार्ज, शरीर के किसी हिस्से में गांठ या उभार आना, अपच या निगलने में परेशानी, मस्से या तिल में हाल ही में हुआ बदलाव, बार बार खांसी आना या, आवाज में बदलाव आना या स्वर बैठना आदि कैंसर के कुछ लक्षण हैं जिनका लोगों को ध्यान रखना चाहिए।


डॉ. मिश्रा ने आगे बताया कि कैंसर का इलाज मुख्यतः सर्जरी कीमोथेरेपी और रेडियोथैरेपी के द्वारा किया जाता है। सर्जरी में कैंसर ग्रसित कोशिकाओं को शरीर से निकाल दिया जाता है, कीमोथेरेपी में,दवाओं के माध्यम से कैंसर कोशिकाओं को नष्ट किया जाता है और रेडियोथैरेपी में रेडिएशन की सहायता से कैंसर कोशिकाओं को नष्ट किया जाता है। इस अवसर पर उन्होंने यह भी कहा की कैंसर के शुरुवाती स्टेज में इलाज कराने से कैंसर से जड़ से छुटकारा पाया जा सकता है।

इसलिए कोई भी लक्षण आने पर तुरंत अपने डॉक्टर के पास जा कर परामर्श लेना चाहिए।डॉ पांडेय ने आगे बताया की कैंसर एक जटिल एवं गंभीर बीमारी है जिसका इलाज अत्याधुनिक तकनीकों से किया जा सकता है। योगा, प्राणायाम जैसे नियमित व्यायाम करके भी कैंसर से बचा जा सकता है। एडवांस्ड स्टेज में भी इम्यूनोथेरेपी एवं अन्य अत्याधुनिक तकनीकों द्वारा कैंसर पर काबू पाया जा सकता है।

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button