छत्तीसगढ़

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र को 100 बिस्तर अस्पताल में उन्नयन करने, चिकित्सकों की नियुक्ति करने एवं अस्पताल भवन का विस्तार करने की मांग

(राम प्रसाद गुप्ता) : मनेन्द्रगढ़.। कलेक्टर,मनेन्द्रगढ़-चिरमिरी – भरतपुर को एक ज्ञापन सौपते हुये पूर्व भाजपा महामंत्री रामचरित द्विवेदी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मनेंद्रगढ़ का 100 बिस्तर अस्पताल में उन्नयन करने, चिकित्सकों की नियुक्ति करने एवं अस्पताल भवन का विस्तार करने का अनुरोध किया है.

Advertisement


कलेक्टर को सौंपे गये ज्ञापन में उल्लेखित किया गया है कि जिला मुख्यालय मनेंद्रगढ़ में संचालित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र को 30 बिस्तरों का दर्जा प्राप्त है। इसके चलते यहां आने वाले मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। पूर्व में जब मनेंद्रगढ़ विकासखंड था उस दौरान किसी तरह 30 बिस्तर वाले इस अस्पताल में लोगों को बमुश्किल उपचार मिल पाता था। उस दौरान भी अस्पताल के वार्डों में जगह न होने के कारण मरीजों को बरामदे में लिटाकर उपचार करना पड़ता था। कमोवेश अभी भी हालात में किसी तरह का सुधार नहीं हुआ है। आज भी वार्डों की कमी के चलते अस्पताल में आने वाले मरीजों को बाहर बरामदे में पलंग बिछाकर उपचार करना पड़ता है।

Advertisement

कभी-कभी तो ऐसी स्थिति निर्मित हो जाती है कि पूर्व में भर्ती मरीजों को बेड के अभाव के कारण आनन- फानन में अस्पताल से छुट्टी करनी पड़ती है। अब मनेन्द्रगढ़ को जिला मुख्यालय का दर्जा मिल चुका है। ऐसे में जरूरी है कि इस 30 बिस्तर वाले अस्पताल को 100 बिस्तर अस्पताल में परिवर्तित किया जाए, इसके लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के बगल में निर्मित पुराने स्टाफ क्वार्टर,तहसीलदार निवास, चिकित्सक निवास, सीईओ जनपद के निवास को तोड़कर उसके स्थान पर चिकित्सालय के लिए वार्ड एवं अन्य जरूरी भवन बनाए जा सकते हैं। ऐसा होने से अस्पताल में हो रही वार्डों की कमी को पूरा किया जा सकता है व मरीजों को होने वाली असुविधा भी कम हो सकती है। 30 बिस्तर का दर्जा होने के कारण सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में डॉक्टरों की स्वीकृति भी बहुत कम है। वर्तमान में इस अस्पताल में खंड चिकित्साधिकारी, विशेषज्ञ मेडिसीन, विशेषज्ञ सर्जरी, स्त्री रोग विशेषज्ञ, शिशु रोग विशेषज्ञ, निश्चेतना विशेषज्ञ, अस्थि रोग विशेषज्ञ, चिकित्साधिकारी द्वितीय श्रेणी 3 पद व ग्रामीण चिकित्सा सहायक तृतीय श्रेणी का 1 पद स्वीकृत है। इनमें से स्त्री रोग विशेषज्ञ, निश्चेतना विशेषज्ञ व ग्रामीण चिकित्सा सहायक का पद रिक्त है। वहीं बीईई, आरएचओ पुरूष, फार्मासिस्ट ग्रेड-2 एक पद, रेडियोग्राफर, ड्रेसर ग्रेड-1, ड्रेसर ग्रेड-2, वाहन चालक 2 पद, वार्ड ब्वॉय तृतीय श्रेणी 2 पद, वार्ड ब्वॉय चतुर्थ श्रेणी 1 पद तथा वार्ड आया का 1 पद रिक्त पड़ा है। ऐसे में आसानी से समझा जा सकता है कि अस्पताल में आने वाले मरीजों को कितनी असुविधा होती है। अतः आपसे अनुरोध है कि आम जनों की स्वास्थ्य सुविधा को ध्यान में रखते हुए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में रिक्त पड़े पदों पर डॉक्टरों की नियुक्ति, अस्पताल का विस्तारीकरण, अस्पताल को 100 बिस्तर का दर्जा देने व अन्य जरूरी संसाधनों को उपलब्ध कराने जरूरी निर्देश दें, जिससे जिला मुख्यालय के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में सुदूर वनांचल क्षेत्रों से आने वाले ग्रामीण जनों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्राप्त हो।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button