देश

यंग इंडियन दफ्तर सील होने के बाद कांग्रेस का आक्रामक रुख, आज संसद से सड़क तक कर सकती है प्रदर्शन  

(शशि कोन्हेर) : नेशनल हेराल्ड केस में यंग इंडियन का दफ्तर सील होने के बाद कांग्रेस में खलबली मची हुई है। प्रवर्तन निदेशालय (ED) की कार्रवाई को लेकर पूरी पार्टी सरकार पर हमलावर हो गई है। ईडी की इस कार्रवाई की गूंज गुरुवार को संसद भवन में देखने को मिल सकती है।

Advertisement

कांग्रेस ने इसका संकेत भी दे दिया है। पार्टी गुरुवार को संसद में स्थगन प्रस्ताव लाने की तैयारी में है। यही नहीं, संसद की कार्यवाही शुरू होने से पहले कांग्रेस ने अपने लोकसभा एवं राज्यसभा सांसदों की बैठक भी बुलाई है। समझा जाता है कि इस बैठक में सरकार के खिलाफ मोर्चाबंदी पर मंथन किया जाएगा।

Advertisement


बता दें कि बुधवार शाम ईडी ने दिल्ली में नेशनल हेराल्ड इमारत में स्थित यंग इंडियन का दफ्तर सील कर दिया। इस दफ्तर को अगले आदेश तक न खोलने का निर्देश है। कर्नाटक दौरा छोड़कर राहुल गांधी वापस दिल्ली लौट आए हैं। दफ्तर सील होने के बाद कांग्रेस के बड़े नेताओं की बैठक जारी है। सूत्रों का कहना है कि मुकुल वासनिक के कार्यालय में हुई बैठक में आगे की रणनीति पर चर्चा हुई। वहीं, दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय एवं सोनिया गांधी के आवास के बाहर सुरक्षा काफी कड़ी कर दी गई है। सूत्रों का कहना है कि ईडी की कार्रवाई के खिलाफ कांग्रेस के बड़े नेता गुरुवार को संसद से सड़क तक मार्च कर सकते हैं।

Advertisement


ईडी ने सील किया है यंग इंडियन का दफ्तर


यंग इंडियन दफ्तर सील किए जाने को लेकर ईडी का कहना है कि यह कार्रवाई गत मंगलवार को होनी थी लेकिन कंपनी के अधिकारी उस दिन अनुपस्थित थे इसलिए सील करने की कार्रवाई गुरुवार को हुई। अधिकारियों का कहना है कि दस्तावेजों को सुरक्षित रखने के इरादे से दफ्तर को सील किया गया है। सरकार की इस कार्रवाई पर कांग्रेस हमलावर हो गई है। कांग्रेस ने अपने एक ट्वीट में कहा, ‘पुलिस की कार्रवाई से सत्य भयभीत नहीं होगा। गांधी के अनुयायी लड़ेंगे और इस अंधकार से जीतेंगे। हम महंगाई और बेरोजगारी पर सवाल पूछते रहेंगे।’


कांग्रेस ने दावा किया कि सरकार के इशारे पर दिल्ली पुलिस ने उसके मुख्यालय, पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के आवासों को घेर रखा है तथा उसके नेताओं के साथ ‘आतंकवादियों जैसा सुलूक’ किया जा रहा है जो प्रतिशोध और धमकी की राजनीति है। राजस्थान के सीएम गहलोत ने इस मामले में ट्वीट करते हुए केंद्र सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने लिखा है, ‘कांग्रेस मुख्यालय एवं 10 जनपथ को पुलिस छावनी बनाने की आज की कार्रवाई अघोषित आपातकाल है। नेशनल हेराल्ड (यंग इंडिया) के दफ्तर को जबरन सील कर दिया गया। राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) नीत इस तानाशाही सरकार के खिलाफ यदि कांग्रेसजनों के साथ आम जनता खड़ी नहीं हुई तो इसका खामियाजा पूरे देश को भुगतना पड़ेगा।’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button