बिलासपुर

कांग्रेसजनों ने शहीद चंद्रशेखर आजाद और स्वर्गीय श्यामाचरण शुक्ल का पुण्य स्मरण किया….

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : बिलासपुर – ज़िला कांग्रेस कमेटी ( शहर/ग्रामीण ) द्वारा 27 फरवरी को कांग्रेस भवन मे अमर शहीद क्रांतिकारी चन्द्रशेखर आज़ाद का शहादत और पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय श्यामाचरण शुक्ल की जयंती मनाई गई। उनके छायाचित्रों पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजली दी गई ,
इस अवसर पर शहर अध्यक्ष विजय पांडेय ने कहा कि अल्पायु में बड़ी उपलब्धि का नाम है चन्द्र शेखर आज़ाद। जो 15 वर्ष की आयु मेअंग्रेजो के बर्बरता पूर्वक बेंत के प्रहार को सहते रहे और देश के हर प्रहार पर भारतमाता की जय बोलते रहे। प्रखर राष्ट्रवादी ,देशभक्त जो प्रारम्भिक जीवन से ही देश को आज़ाद दिलाने की जज्बा लिए स्वतन्त्रता आंदोलन में कूद पड़े, चौराचौरी कांड के बाद आंदोलन में बड़ा बदलाव आया और 1920 के बाद युवाओ ने क्रांतिकारी दल बनाकर देश को आज़ादी दिलाने की राह पर निकल पड़े ,उन्ही में से एक थे ,चन्द्र शेखर आज़ाद। वे अंग्रेजो के मन में एक खौफ पैदा करने में सफल रहे ,चन्द्रशेखर आज़ाद ने रामप्रसाद बिस्मिल, भगत सिंह, राजगुरु,सुखदेव, जतिंदर पाल, असफाकउल्लाह खान आदि के साथ मुख्य रूप से काकोरी कांड, सॉन्डर्स हत्या कांड, दिल्लीअसेम्बली बम कांड को क्रियान्वित किया ,और 27 फरवरी 1931 को इलाहाबाद के अल्फ्रेड गार्डन ( अब आजाद पार्क) में अंग्रेजो से लड़ते हुए स्वयं को गोली मारकर शहीद हो गए ।
महापौर रामशरण यादव ने कहा कि शहीद चंद्रशेखर आज़ाद युवाओ के प्रेरणास्रोत है ,देश के लिए कुछ भी कर गुजरने की हिम्मत आज़ाद के जीवन से सीखी जा सकती है।
आज़ाद प्रारम्भ में हिंदुस्तान रिपब्लिक एसोसिएशन के सदस्य रहे ,काकोरी कांड के बाद सभी क्रांतिकारी या तो फांसी पर लटका दिए गए या फिर आजीवन कारावास मेपहुँच गए,ऐसे में आज़ाद ने हिंदुस्तान रिपब्लिक एसोसिएशन को हिंदुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिक एसोसिएशन में नाम से संगठन बना ,जिसका चीफ इन कमांडर ,आज़ाद बने ,आज़ाद ने कभी भी देश की आज़ादी कोलेकर समझौता नही किया ,एक सच्चा देशभक्त थे ।
सैय्यद जफर अली, एसएल रात्रे, विनोद साहू ने कहा कि पंडित श्यामा चरण शुक्ल मध्यप्रदेश के
तीन बार के मुख्यमंत्री रहे ,उन्होंने अपने कार्यकल मे नहरो का जाल बिछा दिया।,बड़े बड़े बांध बनवाये।नियोजित शहर का निर्माण उन्होंने ही प्रारम्भ किया शुक्ल जी एक सिद्धांतवादी नेता थे, उनके कृषि क्षेत्रो के विकास और संवर्धन के लिए किए गए कार्यो के कारण छत्तीसगढ़ सरकार 27 फरवरी को कृषक दिवज़ के रूप में मनाती है ,उनका मानना था कि कृषको की स्थिति सुधारकर ही प्रदेश का विकास किया जा सकता है ,कृषक समृध्द होगा तो समाज का हर वर्ग लाभान्वित और आर्थिक रूप से मजबूत होगा ,
कार्यक्रम में शहर अध्यक्ष विजय पांडेय,महापौर रामशरण यादव,सैय्यद ज़फ़र अली, हरीश तिवारी, विनोद शर्मा, त्रिभुवन कश्यप, माधव ओतलवार, विनोद साहू ,सुभाष ठाकुर,,रिंकी शुक्ला, प्रियंका यादव,रामदुलारे रजक,प्रशांत पांडेय,गोवर्धन श्रीवास्तव,अर्जुन सिंह, चन्द्रहास केशरवानी, मनोज शर्मा,राम चन्द क्षत्री, सूर्यवंशी,अनिल तिवारी,गजेंद्र श्रीवास्तव ,पुष्पा शर्मा,कार्तिकेश शर्मा,दीपक रायचेलवार,लक्ष्मी जांगड़े,गणेशरजक,छोटू मोइत्रा,और मालती कुर्रे सहित कांग्रेसजन मौजूद रहे।

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button