बिलासपुर

“सेंट जेवियर्स व्यापार विहार शाला में क्रिसमस का महोत्सव”

बिलासपुर – सर्वधर्म समभाव इसी भावना को मद्देनजर रखते हुए सेंट जेवियर्स व्यापार विहार शाखा में 23/12/22 दिन शुक्रवार को किसमस का उत्सव मनाया गया । यह पर्व प्रेम , सौहाद्र और भाई – चारे का संदेश देता है । इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम में छात्रों द्वारा पारंपरिक नृत्य , संगीत प्रस्तुत किया गया । नन्हे – मुन्ने बच्चे सांताक्लॉज बनकर छात्रों को टाफियाँ बॉटी व प्रभु यीशु मसीह के पवित्र संदेश को जन – जन तक पहुँचाने का आह्वान किया । सांता द्वारा बच्चों को उपहार दिया गया । शाला की प्राचार्या सुप्रिया ए . पी . द्वारा अपने अभिभाषण में ईसा मसीह के संदेशो को बताया गया । उन्होंने कहा कि यह पर्व हमें प्रेम , सद्भाव व शांति का संदेश देता है । इस अवसर पर स्कूल के छात्रों द्वारा संकलित व इकट्ठा किए गए वस्तुऍ जिसमें अनाज , बिस्कुट , तेल कपड़े व अन्य सामग्रियों सम्मिलित है । जिसे आश्रम , मातृछाया कल्याण कुज वृद्वाश्रम एवं मदर टेरेसा जाकर वहाँ रह रहे लोगों से मिले व उन्हें सामग्री भेंट कर उनकी खुशी में शामिल हुए । इसमे शहर के वृद्वाश्रम , अनाथ आश्रम झुग्गि झोपड़ियाँ तक यह लाभ पहुँचाया गया । छात्रों को भी इस कार्य के लिए प्रोत्साहित किया जाता है छात्र और अभिभावक गण इस पुण्य कार्य में मुक्त हस्त से सहभागी रहते हैं । इस प्रथा से छात्रों में भाई – चारे की भावना विकसित होती है ।

Advertisement

कार्यक्रम के अंत में उप प्राचार्या मैडम शाइस्ता बेगम , प्रधानाचार्या मैडम रंजना बहादुर ने सभी का आभार व्यक्त कियां तथा सभी को केक वितरित कर उनका मुहॅ मीठा किया । इन कायक्रमों का पालन करने के पीछे शाला का यह उद्देश्य रहता है कि बच्चे जो आने वाले कल के भविष्य है इन अच्छी परंपराओ का निर्वहन अपने जीवन में भी कर सकें । यही शिक्षा का अभिन्न अंग है।

Advertisement

सेंट जेवियर्स चैन ऑफ स्कूल्स के मैनेजिंग डॉयरेक्टर एवं भारतीय एथलेटिक्स संघ के उपाध्यक्ष डॉ . जी . एस . पटनायक ने विद्यालय परिवार के सदस्यों को इस पर्व की शुभकामना प्रेषित किए । मैनेजिंग डॉयरेक्टर डॉ . जी.एस. पटनायक की ओर से स्लम एरिया में रहने वाले गरीब बच्चों को पेन – पेन्सिल व पुस्तकें- कापियाँ तथा गरम कपड़े बॉटे गए।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button