छत्तीसगढ़

रुपए लेने के बाद जमीन की रजिस्ट्री नही कर रहे बिल्डर,पीड़ित परिवार को दी जा रही धमकी..

Advertisement

(इरशाद अली संपादक लोकस्वर टीवी) : बिलासपुर। बिलासपुर से झारखंड रांची शादी होकर गई शहर की बेटी शिल्पा गोप,पति सोमरेश गोप और बहन रिम्पा डे धोखेबाज जमीन माफियाओं से काफी परेशान हैं।

Advertisement

कोनी में जमीन दिखाकर करीब 9 लाख रुपए हड़पने के बाद अब पीड़ितों को ना तो जमीन दी जा रही है और ना ही रुपए वापस लौटाए जा रहे हैं।रुपए वापस मांगने पर उल्टा उन्हें जीवन से हाथ धो लेने की धमकी देते हुए नेताओं के फोटो दिखा कर रौब जमाया जा रहा है। जमीन रजिस्ट्री करने का आश्वासन देकर उन्हें बार बार रांची से बुलाया जाता है और रजिस्ट्री नही की जाती है।

Advertisement

बार बार आवाजाही के चक्कर में सोमरेश की नौकरी चली गई। यही नहीं घर की सारी जमा पूंजी दे देने के बाद अब बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है।  परेशान महिला और उसके पति ने सोमवार को पत्रकारों से अपनी आपबीती बताई। बिलासपुर प्रेस क्लब पहुंचे इस पीड़ित परिवार ने बताया कि दिसंबर 2021 में कोनी स्थित स्वयंराज बिल्डर के बालाजी कॉलोनी में एक जमीन को उन्होंने पसंद किया गया था.

जिसका सौदा 12 लाख 15 हजार  में तय हुआ। एडवांस के तौर पर साढ़े 3 लाख का दो चेक दिया गया बाकी पैसा नगद दिया गया इस तरह से 8 लाख 95 हजार रूपये दे दिया गया। इसका एग्रीमेंट भी हुआ लेकिन जमीन की रजिस्ट्री आज तक नहीं की गई। इस बारे में कई बार बिल्डर सौरभ शुक्ला और धीरेन्द्र पांडेय से सम्पर्क किया गया लेकिन किसी ने कोई जवाब नहीं दिया। वहा काम करने वाले सूरज जायसवाल से भी सम्पर्क करके जमीन की रजिस्ट्री कराने की मांग की गयी।मगर किसी ने भी उनके साथ इंसाफ नहीं किया।

जमीन की रजिस्ट्री नहीं होने पर पैसा वापस देने की बात कही गई लेकिन पैसा और जमीन देने की बजाए धमकी मिल रही है जिसकी शिकायत कोनी थाने में की गयी है।
थाने से कोई कार्रवाई नहीं होने से  बिल्डर के हौसले भी बढ़ते गए।
बिल्डर सौरभ शुक्ला,सूरज जायसवाल और धीरेन्द्र पांडेय के खिलाफ कोनी में मामला दर्ज होने के बाद भी उन्हें कोई राहत नहीं मिली है। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें और उनके परिवार को न्याय मिलना चाहिए। ऐसे बिल्डर जो पैसा लेकर जमीन नहीं देते उनके खिलाफ कार्रवाई भी होनी चाहिए ताकि अन्य लोग इस तरह के शिकार न हो सके।

पीड़ित परिवार ने बताया कि
बिल्डर सौरभ शुक्ला और धीरेन्द्र पांडेय लगातार उन्हें थाने से केस वापस लेने धमकी दे रहे हैं। जो करना है कर लो कहकर धमकाने का काम अब भी जारी है। उनकी धमकी से पूरा परिवार काफी डरा सहमा हुआ है।मीडिया से बात करते हुए उन्होंने बताया की चूँकि घर बनाना एक सपना था और इसी कारण जमीन लेने के लिए पैसा एकत्रित किया गया और उनका परिवार अब ठगी का शिकार हो गया है। पीड़ित परिवार ने शासन प्रशासन से न्याय की गुहार लगाई है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button