छत्तीसगढ़

अवैध रेत उत्खनन और माफिया के साथ खनिज विभाग के अपवित्र गठबंधन को लेकर अरपा बेसिन विकास प्राधिकरण के सदस्य महेश दुबे ने कलेक्टर को लिखा पत्र

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : बिलासपुर। अरपा बेसिन विकास  प्राधिकरण के सदस्य श्री महेश दुबे ने बिलासपुर की जीवन रेखा अरपा नदी में खो रहे हो रहे अवैध उत्खनन को लेकर कलेक्टर श्री संजीव कुमार झा को खुला पत्र लिखा है।

Advertisement

पत्र में उन्होंने रेत के अवैध उत्खनन का फर्जीवाड़ा खनिज विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों की  शह पर ही चलने का आरोप लगाते हुए पूरे मामले में सीधे हस्तक्षेप का आग्रह किया है। हम यहां श्री महेश दुबे द्वारा कलेक्टर को भेजा गया उनका पत्र प्रस्तुत कर रहे हैं।

Advertisement

अरपा बेसिन विकास प्राधिकरण छत्तीसगढ़
प्रति

श्रीमान संजीव कुमार झा जी
कलेक्टर बिलासपुर छत्तीसगढ़
विषय-:- रेत उत्खनन को प्रोत्साहित एवं संरक्षण देने वाले खनिज विभाग के अधिकारियों पर नकेल कसे बिना संभव नहीं है रेत उत्खनन को रोकना!!
महोदय निवेदन है कि बिलासपुर की जीवनदायनी अरपा की दशा- दुर्दशा का दर्द समय-समय पर शासन- प्रशासन का ध्यान आकर्षित करने का कार्य स्थानीय प्रिन्ट-इलेक्ट्रॉनिक मिडिया सोशल  मिडिया के साथ स्थानीय आम नागरिक समाजिक सांस्कृतिक धर्मिक राजनैतिक दलों के लोगों द्वारा किया जाता रहा है उसके बावजूद खनन माफियाओं के हौसले बुलंद रहे आश्चर्यजनक बात तो यह है कि पिछले 7 माह से जिले में किसी भी रेत घाट को अनुमति प्राप्त नहीं है उत्खनन की उसके बावजूद दिन-रात बेखौफ खुदाई स्पष्ट प्रमाण है खनिज विभाग एवं उत्खनन माफ़ियाओ के बीच मजबूत गठबंधन की!


पूर्व कलेक्टर श्री सौरभ कुमार सिंह जी के अथक प्रयास का परिणाम भी सून्य ही दिखाई दिया,आपने पद ग्रहण करते ही इन रेत माफियाओं के खिलाफ कार्यवाही की बात की लोगों को आशा एवं विश्वास जगा कुछ तो अच्छा होगा आप के बयान के कुछ घंटो ही बीते थे खनन माफियाओं ने बेखौफ रेत-उत्खनन लोफंदी घाट पर प्रारंभ कर दिया स्थानीय लोगों द्वारा विरोध करने पर खुलकर गुंडागर्दी की गई स्थानी लोगों ने इस उत्खनन के लिए खनिज विभाग के जवाबदार अधिकारियों को दोषी ठहराया है!


महोदय विदित हो की बिलासपुर की जीवनदायिनी मां अरपा की दशा-दुर्दशा के दर्द को प्रदेश अध्यक्ष के रूप में श्री भूपेश बघेल जी ने देखा और समझा था जब वे इसके तट पर लगे इलाकों पर बरसते पानी में पदयात्राएं की थी तब ही संकल्प ले लिया गया था कि सरकार बनते ही अरपा उन्नयन पर्यावरण संरक्षण के साथ इसकी धारा को पुनर्जीवित किया जावेगा
मुख्यमंत्री बनते ही प्रथम बिलासपुर प्रवास पर उन्होंने अपने संकल्प को याद करते हुए अरपा के प्रति अपना स्नेह प्रेम आदर दर्शाते हुए अरपा को अरपा बनाए रखने पर्यावरण संरक्षण के साथ उन्नयन वृहद वृक्षारोपण प्रदूषण मुक्त जल प्रकृति-सौन्दर्य से परिपूर्ण इस योजना को जिले की सबसे अति महत्वपूर्ण योजना घोषित किया!


माननीय मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी की सबसे अति महत्वकांक्षी योजना पर रोड़ा हटाने का काम रेत उत्खनन माफियाओं द्वारा निरंतर किया जा रहा है जिसका परिणाम अरपा की दशा दुर्दशा हम सबके सामने हैं बेखौफ बेदर्दी से दिन-रात चल रही खुदाई से नदी से रेत लुप्त प्राय सी हो गई है और नदियों में बड़े-बड़े गड्ढे निर्मित हो गए हैं जिससे लोगों की जाने जा रही हैं पिछले दिनों सिंदरी में घटित घटना इसका सबसे दुखद उदाहरण है जहां तीन बच्चियों एक साथ दर्दनाक मौत का शिकार हो गई! यहां की घटना को लेकर छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय ने भी संज्ञान में लिया है अरपा बेसिन विकास प्राधिकरण द्वारा पत्र व्यवहार के माध्यम से माननीय मुख्यमंत्री एवं प्रशासन को अवगत कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है!

Advertisement


महोदय्  आत: आपसे निवेदन है कि लगातार रेत उत्खनन को लेकर हो रही आम चर्चाएं में शासन प्रशासन की किरकिरी हो रही है माननीय मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट की परवाह किए बिना कौन इतना शक्तिशाली है जो लगातार रोड़ा उत्पन्न कर प्रशासन के पुरुषार्थ को ललकार रहा है जिला खनिज अधिकारी एवं उनके अधिनस्थ अधिकारी कर्मचारियों कि शाह के बिना उत्खनन संभव ही नहीं है इसके सुधार के लिए जरूरी है इस विभाग का अमूल- चूल परिवर्तन कर योग एवं सक्षम अधिकारी पदस्थ किए जाए इस विभाग की कार्यशैली से आम जनमानस में प्रशासन की छवि धूमिल हो रही है!
                                                     महेश दुबे
दिनांक 14-8-2023                             सदस्य                         
                                अरपा बेसिन विकास प्राधिकरण
                                                  छत्तीसगढ़

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button