play-sharp-fill
छत्तीसगढ़

राजीव भवन में बैठक,समीक्षा बैठक में फूटा हार का गुस्सा, कांग्रेसियों ने कहा….

Advertisement

विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार की समीक्षा के लिए बुलाई गई बैठकों में पार्टी के नेताओं और पदाधिकारियों का गुबार फूट पड़ा। सभी चार बैठकों में लगभग एक सा नजारा रहा, लेकिन पूर्व विधायकों और जिला तथा मोर्चा प्रकोष्ठों के अध्यक्षों की बैठक में माहौल ज्यादा गरम रहा।

Advertisement

पीसीसी चीफ दीपक बैज की अध्यक्षता में हुई बैठक में टिकट काटे जाने से नाराज विधायकों ने कहा कि एआईसीसी के सर्वे के बिना ही उनके टिकट काट दिए गए। इसका नतीजा यह रहा कि 16 नए प्रत्याशी चुनाव हार गए। यदि टिकट नहीं काटी जाती तो सरकार में दोबारा वापसी निश्चित थी।

Advertisement

रेखचंद जैन ने कहा कि टिकट कटने का मलाल नहीं है। लोकसभा में मजबूती से काम करेंगे। शिशुपाल शोरी ने कहा एक दूसरे के गिले शिकवे भूल लोकसभा के लिए आगे बढ़ने के निर्देश मिले हैं। शोरी ने कहा कि हर कार्यकर्ता चाहता है लोकसभा की टिकट मिले। बैठक में कार्यकर्ताओं ने कहा कि लोकसभा चुनाव में नए लोगों को टिकट दिया जाएगा तभी वो काम करेंगे।

पीसीसी चीफ दीपक बैज ने कहा कि पार्टी में हर तरह की बातें होती हैं। प्रभारी जिले और विधानसभा तक जाकर कार्यकर्ताओं की बैठक लेंगे। जमीनी स्तर पर लोकसभा की तैयारी कर रहे हैं। बता दें कि राजीव भवन में संयुक्त महामंत्री व सचिवों के बाद पूर्व विधायकों, तीसरी बैठक मोर्चा प्रकोष्ठों व अध्यक्षों और आखिरी बैठक जिलाध्यक्षों की रखी गई थी।

संयुक्त महामंत्री और सचिवों की बैठक में एक पूर्व मंत्री मंच पर बैठे थे। पदाधिकारियों ने उनको ही घेरा और सार्वजनिक रूप से कहा कि हम अपना कोई काम लेकर जाते थे तो कहते थे अभी नहीं हो पाएगा और वही काम दूसरों का शाम तक हो जाता था। बिना पैसों के कोई काम नहीं होता था।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button