देश

अमेरिका ने खेला डबल गेम! हरदीप सिंह निज्जर मर्डर की जासूसी करवाकर कनाडा को भेजी खुफिया डिटेल

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : भारत और कनाडा में जारी टेंशन के बीच अमेरिका बेनकाब हुआ है। बाहर से भले ही वह भारत और कनाडा के झगड़े में न पड़ने की बात कर रहा है लेकिन, एक रिपोर्ट में उसकी पोल खुल गई है। न्यूयॉर्क टाइम्स ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि सिख अलगाववादी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के बाद अमेरिका ने कनाडा को खुफिया जानकारी मुहैया कराई थी। इन खुफिया जानकारियों से प्रेरित होकर ही जस्टिन ट्रूडो ने भारत पर संगीन आरोप लगाए थे।

Advertisement

यह रिपोर्ट तब सामने आई जब कनाडा में शीर्ष अमेरिकी राजनयिक ने पुष्टि की कि “फाइव आईज साझेदारों के बीच साझा खुफिया जानकारी” थी, जिसने कनाडाई धरती पर खालिस्तानी चरमपंथी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या में कनाडा के प्रधान मंत्री जस्टिन ट्रूडो को भारत के खिलाफ संगीन आरोप लगाने के लिए प्रेरित किया था।

Advertisement

ट्रूडो के इन आरोपों ने भारत को नाराज कर दिया है। भारत कनाडा के आरोपों को “बेतुका” और “प्रेरित” कहकर खारिज कर चुका है। साथ ही भारत ने इस मामले पर ओटावा के एक भारतीय अधिकारी को निष्कासित करने के बदले में एक वरिष्ठ कनाडाई राजनयिक को निष्कासित कर दिया। भारत ने कनाडा पर आतंकवादियों के लिए सुरक्षित पनाहगाह होने का भी आरोप लगाया है।

गौरतलब है कि प्रतिबंधित खालिस्तान टाइगर फोर्स (KTF) के प्रमुख निज्जर की 18 जून को ब्रिटिश कोलंबिया के सरे में हत्या कर दी गई थी। भारत ने निज्जर को 2020 में आतंकवादी घोषित किया था। इस मामले में संयुक्त राज्य अमेरिका ने भारत से अपनी जांच में कनाडा के साथ सहयोग करने का आग्रह किया है।

रिपोर्ट में क्या है?
न्यूयॉर्क टाइम्स  ने अज्ञात सूत्रों के हवाले से कहा है, “हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के बाद, अमेरिकी खुफिया एजेंसियों ने कनाडाई समकक्षों को खुफिया जानकारी उपलब्ध कराई थी। खुफिया जानकारी के बाद कनाडा को यह निष्कर्ष निकालने में मदद मिली कि हत्या में भारत शामिल था।”

रिपोर्ट के अनुसार, “निज्जर की मृत्यु के बाद, अमेरिकी अधिकारियों ने अपने कनाडाई समकक्षों को बताया कि वाशिंगटन के पास साजिश के बारे में कोई अग्रिम जानकारी नहीं थी। यदि अमेरिकी अधिकारियों के पास पहले से जानकारी होती तो वे पहले ही दे देते।” अधिकारियों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि कनाडाई अधिकारियों ने निज्जर को एक सामान्य चेतावनी दी थी लेकिन उन्हें यह नहीं बताया था कि वह भारत के निशाने पर है।

अमेरिकी राजदूत भी कबूल चुके आधा सच
कनाडा में अमेरिकी राजदूत डेविड कोहेन ने सीटीवी न्यूज के साथ एक साक्षात्कार में कहा था कि “फाइव आईज भागीदारों के बीच साझा खुफिया जानकारी” ने ट्रूडो को कनाडाई नागरिक निज्जर की हत्या में भारतीय एजेंटों की संभावित संलिप्तता के बारे में सूचित किया था। कोहेन ने सीटीवी न्यूज को बताया, “मैं कहूंगा कि यह साझा खुफिया जानकारी का मामला था। इस बारे में कनाडा और संयुक्त राज्य अमेरिका के बीच काफी बातचीत हुई थी और मुझे लगता है कि जहां तक ​​मैं सही हूं, यही बात है।”

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button