देश

अमर जवान ज्योति का 50 साल बाद आज समारोह पूर्वक राष्ट्रीय युद्ध स्मारक में विलय किया गया….

(शशि कोन्हेर) : नई दिल्ली स्थित इंडिया गेट पर ये कार्यक्रम 3.30 बजे के करीब शुरू हुआ, दोनों स्थानों के बीच 400 मीटर की ही दूरी है, लिहाजा इसमें ज्यादा देर नहीं लगी. अमर जवान ज्योति को मशाल वाहक द्वारा नेशनल वार मेमोरियल ले जाया गया. मार्च पास्ट के साथ अमर जवान ज्योति को स्मारक की ओर ले जाया गया. इसे देश के रणबांकुरों के प्रति राष्ट्र की कृतज्ञता के नए सम्मान के तौर पर देखा जा रहा है. बता दें, 26 जनवरी 1972 को इंदिरा गांधी ने अमर जवान ज्योति ने यह लौ जलाई थी, जिसे अब 50 साल बाद राष्ट्रीय युद्ध स्मारक ले जाया गया.

Advertisement

सरकार की दलील है कि 1971 के युद्ध में शहीद भारतीय सैनिकों से किसी का भी नाम इंडिया गेट पर उल्लेखित नहीं है, वहां सिर्फ प्रथम विश्व युद्ध में शहीद जवानों के नाम ही अंकित हैं. जबकि नेशनल वार मेमोरियल में 26 हजार से ज्यादा जवानों के नाम उल्लेखित हैं. लिहाजा बेहतर होगा कि इस लौ को स्मारक में लाया जाए. इसी के साथ गणतंत्र दिवस का कार्यक्रम भी 24 जनवरी की जगह 23 जनवरी को शुरू होगा. 23 जनवरी 2022 को नेताजी की जयंती का शताब्दी समारोह है और उस दिन एक बड़े समारोह का आगाज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे. कहा जा रहा है कि इस कवायद के साथ इंडिया गेट का लंबे इतिहास अब एक नए मोड़ की ओर बढ़ रहा है. 

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button