विदेश

पाकिस्तान में इमरान खान के खिलाफ, क्यों उठा है, भयंकर सियासी बवंडर..!

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : इस्‍लामाबाद – पाकिस्‍तान में विपक्ष की ओर से अविश्वास प्रस्ताव लाए जाने के बाद सियासत पूरे उफान पर है। आलम यह है कि सत्‍ता पक्ष के करीब दो दर्जन असंतुष्‍ट सांसद भी इमरान सरकार के खिलाफ वोटिंग कर सकते हैं। कुर्सी तक पहुंची आंच से बौखलाए पीएम इमरान खान परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहने की धमकी दे चुके हैं। यही वजह है कि सरकार की कार्रवाई से बचने के लिए दो दर्जन बागी पीटीआइ सांसदों ने सिंध हाउस में डेरा डाल दिया है। वहीं इमरान समर्थकों ने भी सरकार के पक्ष में आवाज बुलंद की है।

Advertisement

इमरान समर्थकों का सिंध हाउस पर धावा

Advertisement

समाचार एजेंसी पीटीआइ की रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के के कुछ सदस्यों ने इमरान खान के पक्ष में आवाज बुलंद करते हुए शुक्रवार को इस्‍लामाबाद में सिंध हाउस पर धावा बोल दिया। पीटीआई के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने सिंध हाउस में घुसते हुए हुए असंतुष्ट सांसदों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। पीटीआई के इन असंतुष्ट सांसदों ने इमरान खान के खिलाफ मतदान करने की धमकी दी है। ऐसे में पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) द्वारा संचालित सिंध हाउस सियासी खींचतान का नया केंद्र बन गया है।

सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे इमरान

वहीं सत्‍ता को बचाने के लिए इमरान सरकार पूरी ताकत लगा रही है। रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान सरकार ने अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर मतदान से पहले ही सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने का फैसला किया है। इमरान खान की पार्टी असंतुष्ट सांसदों को वोटिंग से पहले अयोग्‍य घोषित करने की मांग करेगी। पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने बताया कि सरकार ने अनुच्छेद 63-ए की व्याख्या के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने का फैसला किया है। वही इस मामले में सभी को सुप्रीम कोर्ट के फैसले की प्रतीक्षा है। सुप्रीम कोर्ट यह तय करने वाला है कि इमरान खान की अपनी ही पार्टी के सांसद अविश्वास प्रस्ताव को समर्थन दे सकते हैं अथवा नहीं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button