देश

पांच राज्यों की हार के बाद कांग्रेस कार्यसमिति की निर्णायक बैठक आज, असंतुष्ट होंगे हमलावर, वहीं कांग्रेस नेतृत्व असंतुष्टों पर कर सकता है पलटवार

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : नई दिल्ली – पांच राज्यों के चुनाव में हार से कांग्रेस के गहराए संकट और संगठन में बदलाव की दुबारा उठी आवाज के बीच सोनिया गांधी ने रविवार को पार्टी कार्यसमिति की बैठक बुलाई है। इसमें हार की समीक्षा करने के साथ मौजूदा संकट से उबरने के उपायों पर चर्चा होगी। आज बुलाई गई इस बैठक में निर्णायक चर्चा और कार्रवाई हो सकती है। बहुत संभव है कि बैठक में असंतुष्ट माने जाने वाले g-23 गुट के नेता कांग्रेस नेतृत्व पर करारा प्रहार कर सकते हैं। वहीं कांग्रेस नेतृत्व असंतुष्ट नेताओं के खिलाफ जबरदस्त पलटवार भी कर सकता है। कांग्रेस के सिकुड़ते आधार से बेचैन पार्टी के असंतुष्ट नेताओं का समूह जी 23 इस बैठक में नेतृत्व की कमजोरियों को लेकर उसे घेरने की तैयारी में है। इसलिए बैठक के दौरान गरमागरम बहस की पूरी संभावना है।

Advertisement


पार्टी की दुर्दशा पर चौतरफा उठाए जा रहे सवालों और बदलाव के लिए असंतुष्ट खेमे के आक्रामक तेवरों को भांपते हुए कांग्रेस नेतृत्व भी अब ज्यादा देरी का जोखिम उठाने की स्थिति में नहीं है। ऐसे में कार्यसमिति की रविवार को होने वाली सबसे निर्णायक बैठक में कांग्रेस के नए अध्यक्ष का चुनाव तय समय से पूर्व कराने का फैसला लिए जाने की संभावना से इन्कार नहीं किया जा रहा है।

Advertisement


कांग्रेस के नए अध्यक्ष का चुनाव जल्द कराने का कार्यसमिति में फैसला होता है तो इसका मतलब साफ होगा कि हाईकमान पार्टी में बढ़ रही बेचैनी को विद्रोह में तब्दील नहीं होने देना चाहता। संगठन चुनाव के वर्तमान कैलेंडर के अनुसार कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव सितंबर में होना है मगर 10 मार्च के चुनाव नतीजों के बाद असंतुष्ट खेमे के नेतृत्वकर्ता गुलाम नबी आजाद से लेकर शशि थरूर सरीखे नेताओं ने संगठन में तत्काल बदलाव और सुधार की जो आवाज उठाई है उसे देखते हुए नेतृत्व के लिए मौजूदा ढर्रे पर चलना अब मुश्किल हो गया है।

जी-23 नेताओं की आजाद के घर शुक्रवार रात हुई बैठक में भी पार्टी अध्यक्ष का चुनाव तत्काल कराने और दूसरे संगठनात्मक सुधारों का कदम उठाने पर न केवल गंभीर वरन निर्णय चर्चा हो सकती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button