छत्तीसगढ़

ईसाई बने 6 परिवारों की हुई घर वापसी, सभी को चरण धोकर, गंगाजल पिलाने और सत्यनारायण के बाद हिंदू धर्म में लाया गया

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : कोटमी/ कोटमी के समीपस्थ ग्राम देवरी कला में पनिका समाज के कुछ परिवारों ने चंगाई सभा के प्रभाव में आकर हिन्दू धर्म छोड़कर धर्म परिवर्तन कर क्रिश्चियन धर्म अपना लिया था। उन्हें जिला पनिका समाज गौरेला पेंड्रा मरवाही के द्वारा पुनः हिन्दू समाज में लाने के लिए प्रयास किया और समझाईस भी दी गई। इन परिवारों को समझाया गया कि जो परिवार क्रिश्चियन धर्म को मानेंगे। उनका अपने समाज से पूरी तरह संबंध खत्म हो सकता है। समाज के लोग क्रिश्चन बने परिवारों के सुख दुःख में शामिल नहीं हो पायेंगे। और ना ही उनसे रोटी बेटी का सम्बन्ध ही रह पाएगा। , पनिका समाज के लोगों द्वारा दी गई इस समझाइश का असर देवरी कला के पनिका समाज के उन परिवारों पर हुआ, जो हिंदू धर्म छोड़कर क्रिश्चियन धर्म अपना चुके थे। इसके बाद सोमवार को घर वापसी के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में सर्वश्री संदीप पुरी , भारत दास, समलदास, सुरेंद्र पुरी ,राजेश पुरी कुशल प्रसाद पुरी इन सभी ने अपने पुरे परिवार सहित सोमवार को विधिवत घर वापसी की। इन परिवार के लोगों द्वारा देवरी कला के हनुमान चौक में आयोजित सत्यनारायण भगवान की पूजा तथा कथा में शामिल होकर हवन पूजन किया। तदुपरांत विश्व हिंदू परिषद गौरेला पेंड्रा मरवाही जिले के कार्यकारी अध्यक्ष हर्ष छाबरिया जी के द्वारा घर वापसी करने वाले सभी सदस्यों का पैर धुलाकर श्री फल, गेरुआ अंग वस्त्र भेंट कर स्वागत किया एवं गंगाजल पिलाकर उनकी हिंदू समाज में घर वापसी कराई। साथ ही सनतान हिन्दू धर्म के बारे में विस्तार से उपस्थित जनसमूह को समझाया। इस अवसर पर विश्व हिन्दू परिषद् के जिला अध्यक्ष राजेश जालान , रतन केशरवानी, भूपेंद्र राठौर, विरेन्द्र पंजाबी, सागर पटेल, श्रीकांत ताम्रकार ,विनय पांडे , संतोंष साहु, प्रकाश साहू के साथ ही पनिका समाज के जिला प्रमुख फूल चन्द मोर्चे , कुंवारे लालपुरी, संजय पुरी और बृजेश पुरी के साथ ही पनिका समाज के लोग सैकड़ों की संख्या में इस कार्यक्रम में शामिल रहे। कार्यक्रम के अंत में हनुमान चालीसा का पाठ पंडित राकेश महाराज के साथ विश्व हिंदू परिषद के हर्ष छाबरिया एवं सभी उपस्थित जनसमूह के द्वारा किये ग्रे, जय जय श्री राम। जय श्री हनुमान के जय घोष से पुरा देवरी कला ग्राम गूंज रहा था। इस कार्यक्रम में महिलाओं की भी काफी अधिक संख्या में उपस्थिति रही। देवरी कला के ग्राम वासियों के द्वारा कुछ दिनों पश्चात देवरी कला देवी चौरा में रामायण एवं हनुमान चालीसा का पाठ कराया जाएगा। जिसमें हर्ष छाबरिया को उनकी टीम के साथ सभी को ग्राम वासियों ने सामूहिक रुप से आमंत्रित किया है ।जिस पर विश्व हिन्दू परिषद के कार्यकारी जिलाध्यक्ष हर्ष छाबरिया ने उक्त कार्यक्रम में होने वाले पूरे खर्च को अकेले वहन करने का आश्वासन देने पर देवरी कला के ग्राम वासियों ने उनका आभार जताया।

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button