छत्तीसगढ़

झाबुआ में 250 लोगों ने ईसाई धर्म छोड़कर की घर वापसी..

(शशि कोन्हेर) : रतलाम में शिव पुराण सुनकर 18 मुस्लिम हिंदू बने और रतलाम में 18 मुस्लिमों नेमध्य प्रदेश के आदिवासी बहुल झाबुआ जिले में 250 लोगों ने ईसाई धर्म छोड़कर सनातन धर्म अपना लिया और रतलाम में 18 मुस्लिम शिवपुराण सुनने और पूजा के बाद हिंदू बन गए।

Advertisement

झाबुआ के पेटलावद क्षेत्र के गांव बेकल्दा में पंडित कमल किशोर नागर की कथा के बाद से आसपास के गांवों में धर्म जागरण हुआ था। इस जागरण का प्रभाव यह हुआ कि दो दिन पहले जब पंडित नागर गांव गुलरीपाड़ा में श्रीराम मंदिर के प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम में पहुंचे तो 250 परिवार पुन: सनातन धर्म में शामिल हो गए। उनका कहना है कि बीते सालों में किसी कारण से वे ईसाई बन गए थे, लेकिन अब घर वापसी करना सुखद अनुभूति है।

Advertisement

रतलाम में 18 लोगों ने अपनाया हिंदू धर्म

Advertisement

इसी तरह रतलाम क्षेत्र के आंबा में 18 मुस्लिमों ने शिवमंदिर में पूजा के बाद हिंदू धर्म अपना लिया। शुक्रवार सुबह आंबा में भीमनाथ महादेव मंदिर पर पूजा-अर्चना की। स्वामी आनंदगिरी महाराज की मौजूदगी में सभी ने गोमूत्र से स्नान कर जनेऊ धारण की। घर वापसी के पहले सभी ने बगैर किसी दबाव के मतांतरण का शपथ पत्र भी तैयार करवाया। इसके बाद सनातन पद्धति से सभी प्रकिया पूरी करवाई।

मोहम्मद शाह परिवार व रिश्तेदारों सहित हिंदू बने। उन्होंने बताया कि उनकी तीन पीढ़ियां जड़ी-बूटियों के कारोबार से जुड़ी रही हैं। बीते कई सालों से हिंदू धर्म के प्रति रझान बढ़ रहा था। पिछले दिनों महाशिवपुराण कथा में स्वामी जी से चर्चा की तो उन्होंने भी सकारात्मक रख दिखाया, तब परिवार सहित मत परिवर्तन का निर्णय ले लिया।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button