छत्तीसगढ़

वह जिसे समझ रही थी सर दर्द.. वह निकला खतरनाक एन्यूरिज्म रेप्चर.. गनीमत, अपोलो के डॉक्टरों ने मामला पकड़ा और किया आपरेशन,  अब पूरी तरह स्वस्थ हैं महिला

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : अपोलो हॉस्पिटल बिलासपुर की इमरजेंसी में भीषण सर दर्द की समस्या लेकर आए 78 वर्षीय महिला ने नया जीवन पाया| इमरजेंसी वार्ड में आई इस महिला का ऊपर से सामान्य सिर दर्द दिखने वाली समस्या को डॉक्टर ने डॉक्टरों ने तुरंत पहचाना उचित उपचार उपलब्ध कराया वह आज महिला स्वस्थ होकर अपने परिवार के साथ सामान्य जीवन व्यतीत कर रही है डॉ ए बी भट्टाचार्य वरिष्ठ सलाहकार आपातकालीन विभाग अपोलो हॉस्पिटल बिलासपुर ने बताया कि मरीज को लक्ष्मण के आधार पर पहचान कर ऐसे मरीजों को तत्काल आवश्यक चिकित्सा देना अत्यंत महत्वपूर्ण है क्योंकि ऐसे प्रकरणों में देर होने से अंदरूनी समस्या बढ़कर मरीज के जीवन के लिए घातक हो सकती है इस महिला के प्रकरण में भक्त चिकित्सकों ने लक्षणों की सही पहचान कर तत्काल उचित जांच करवाई वह विशेषज्ञ चिकित्सकों को भी तत्काल सूचित कर स्थिति से अवगत कराया डॉक्टर सुनील शर्मा डॉक्टर राजकुमार वरिष्ठ सर्जन न्यूरोलॉजी अपोलो हॉस्पिटल बिलासपुर  तत्काल मरीज का सीटी एंजियोग्राफी टेस्ट करवाया जिसमें उन्होंने पाया कि मरीज के मस्तिष्क की नसों में दबाव के कारण गुब्बारा जैसी स्थिति बन कर फट चुकी थी जो कि मरीज के स्वास्थ्य मरीज के स्वास्थ्य के लिए अत्यंत गंभीर था आमतौर पर इस उच्च रक्तचाप के कारण होता है जिसमें मरीजों को अत्यधिक सिर दर्द होता है जिसे मेडिकल भाषा में एन्यूरिज्म रैप्चर के नाम से जाना जाता है ऐसे मरीजों की यात्रा सर्जरी की जाती है या कॉलिंग के द्वारा उनका उपचार किया जाता है उक्त महिला के केस में मरीज का उम्रदराज होने के कारण सर्जरी करना अत्यधिक जटिल एवं चुनौतीपूर्ण कार्य था परंतु डॉ सुमित शर्मा एवं राजकुमार ने मरीज की स्थिति को देखते हुए तत्काल निर्णय लेकर मरीज की शल्य चिकित्सा की और आज मरीज पूर्ण स्वस्थ होकर अपने परिवार के साथ सामान्य जीवन व्यतीत कर रही ।

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button