देश

श्रीनगर मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर, आतंकी पहले रह चुका है ऑनलाईन पोर्टल का संपादक….

Advertisement

श्रीनगर – डाउन-टाउन के रैनावारी इलाके में गत मंगलवार को आधी रात के बाद हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया है। मुठभेड़स्थल से हथियार व अन्य साजो सामान भी मिला है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मारे गए दोनों आतंकी स्थानीय हैं। इनमें एक आतंकी रईस अहमद भट पुत्र अब्दुल हमीद भट निवासी शाहबाद वीरी बिजबेहाड़ा पहले एक पत्रकार था। वह अगस्त 2021 में आतंकी संगठन में शामिल होने से पहले घाटी में चलने वाले ऑनलाइन पोर्टल ‘वैलीन्यूज सर्विस’ का मुख्य संपादक रह चुका है।

Advertisement

पुलिस ने बताया कि रईस पिछले साल अगस्त में अचानक से लापता हो गया था। घरवालों ने पुलिस में जब उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई तो पुलिस ने उसकी पड़ताल शुरू की। पता चला कि रईस आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा में शामिल हो चुका है। उसके खिलाफ विभिन्न थानों में दो मामले भी दर्ज हैं। उसे हमने सी श्रेणी के आतंकियों में शामिल कर रखा था। वहीं मुठभेड़ में मारे गए दूसरे आतंकी की पहचान हिलाल अहमद राह उर्फ शब्बू पुत्र सफीर अहमद राह निवासी बिजबेहाड़ा के तौर पर हुई है। वह भी पिछले साल अक्टूबर में घर से लापता हो गया और लश्कर-ए-तैयबा आतंकी संगठन में शामिल हो गया था। उसे भी पुलिस ने आतंकियों की सूची में सी श्रेणी में रखा था।

Advertisement

पुलिस ने बताया कि उन्हें देर रात को ही रैनावारी में आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर मिली थी। आधी रात को सुरक्षाबल तलाशी लेते हुए जब आगे बढ़ रहे थे तो एक जगह छिपे आतंकियों ने गोलीबारी शुरू कर दी। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जब उन्हें पता चला कि रैनावाड़ी में मौजूद आतंकियों में रईस और हिलाल शामिल हैं। उन्होंने दोनों को हथियार डालने के लिए कई बार मौके दिए इसके लिए परिजनों की मदद भी ली परंतु उन्होंने उनकी हर अपील का जवाब गोलीबारी से ही दिया। मजबूरन जवाबी कार्रवाई में उन्हें मारना पड़ा। मुठभेड़ रात 12.45 बजे शुरू हुई जो लगभग एक घंटे तक चली और दोनों आतंकी मारे गए। गोलियों से छलनी दोनों आतंकियों के शव भी मिल गए हैं।

सुबह सुरक्षाबलों ने इलाकेे में सर्च ऑपरेशन चलाया। जब इस बात की पुष्टि हो गई कि इलाके में कोई दूसरा आतंकी मौजूद नहीं है, तो सुरक्षाबल आतंकियों के शव व मुठभेड़ स्थल से बरामद हथियार लेकर वहां से चले गए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button