Uncategorized

दो अलग-अलग मामलों में सांप के काटने से कोई दो लोगों की मौत..

(पेण्ड्रा। जिले में बरसात के लगते ही सांप दंश काटने का मामला सामने आने लगा है। जहां दो अलग अलग मामलों में दो लोगो की साँप के काटने से मौत का मामला सामने आया है जहां पर पहला मामला भस्कुरा गाव का है तो दूसरा मामला पेण्ड्रा के कुड़कई गांव का है दोनो ही मामलों में अस्पताल पहुचने में देरी के चलते इलाज में देरी होने से मौत हुई है। फिलहाल पुलिस दोनो ही मामलों में मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

Advertisement

दरअसल बरसात के दिनों में जमीन में सोने और उसके बाद जहरीले सांप के काटने का मामला लगातार सामने आते रहते है।पर ग्रामीण क्षेत्रो में कम पढ़े लिखे होने की वजह से इलाज में देरी की वजह पीड़ित लोग काल के गाल में समा जाते है। जिले में आज दो मामलों में साँप के काटने से एक युवक और एक 16 साल की नाबालिग की मौत हो गई है।

Advertisement

दरअसल पहला मामला गौरेला के भस्कुरा गांव का है जहां पर टिकराटोला निवासी विजय अगरिया कल रात घर मे ख़ाना खाने के बाद अपनी पत्नी के साथ कमरे में जमीन में सो गया रात को लगभग दो बजे के आसपास विजय को कुछ अहसास हुआ की उसे किसी जहरीले सांप ने काट दिया विजय की पत्नी घर के और लोगो को भी मामले की जानकारी दी जिसके बाद परिजन विजय को अस्पताल ले जाना छोड़ गाव के एक वैध राज को घर बुला लाए और विजय का वैध राज इलाज भी शुरू कर दिया पर समय के साथ विजय की हालत सुधरने के बजाए बिगड़ने लगी जिसके बाद घर वालो ने लगभग 3 घण्टे देरी से विजय को 108 संजीवनी एक्सप्रेस की मदद से जिला अस्पताल लेकर आए और अस्पताल में मौजूद डॉक्टरो के द्वारा विजय का इलाज भी शुरू हो गया पर देरी से अस्पताल पहुचने के चलते विजय की इलाज के दौरान मौत हो गई।

Advertisement

साथ ही मिली जानकारी के अनुसार विजय अगरिया की शादी पिछले वर्ष 2023 में हुई थी। जहां विजय अगरिया की पत्नी 4 माह की गर्भवती है।

वही दूसरे मामले में पेण्ड्रा के कुड़कई गाव की रहने वाली 16 साल की रोशनी भरिया जो घर मे जमीन में सोई हुई थी कि रात में दो बजे के आसपास उसे साँप काटा जिसके बाद रोशनी जाग गई और साप को बिस्तर से बाहर फेका इतने में घर वाले सभी लोग जाग गए देखते समझते रात दो बजे से सुबह 5 बज गए जिसके बाद परिजन रोशनी को लेकर जिला अस्पताल पहुचे जहा पर इलाज के दौरान रोशनी की भी मौत हो गई।रोशनी को जिस जहरीले सांप ने काटा उसे परिजनों ने रस्सी से बांधकर एक डिब्बे में बन्द कर दिया था साँप ने एक चूहे के बच्चे को पहले निगल गया था जिसे घर वालो ने रखा हुआ था।

दोनो ही मामलों में कही न कही इलाज में देरी की वजह ही मौत बनी है। हालांकि स्थानीय स्नैक मेन द्वारिका कोल का कहना है कि साँप के काटने पर ग्रामीण वैध झाडफुक के चक्कर मे पड़ जाते है और उन्हें सही उपचार मिलने में देरी हो जाती है कही न कही ऐसी मौतों के पीछे जागरूकता की कमी एक बड़ा कारण होता है। ऐसे में जितने जल्दी से जल्दी पीड़ित को इलाज मिल जाए और सही समय पर अगर इलाज मिलता है तो पीड़ित व्यक्ति की जान बचाई जा सकती है। वहीं जिले की कलेक्टर श्रीमती लीना कमलेश मांडवी से चर्चा करने पर उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन के द्वारा लोगों को जागरूक किया जाएगा। ताकि लोग विभिन्न तरह के लोगों के चक्कर में पड़ सके। साथी दलालों से सावधान रहने की आवश्यकता है।।

  1. द्वारिका कोल

वहीं द्वारिका कोल ने जागरूक करते हुए कहा है कि बारिश शुरू हो गई है इसी मौसम में सर्प दंश की शिकायत अधिक होती है ,इनसे बचने के लिए ,घर के आस पास लकड़ी, कंडा मालवा कचरा जमा न होने दें,आप का घर कच्चा हो या पक्का बेड सेप्टी जरूर लगाएं ,सबसे ज्यादा हादसा रात को ही होता है क्योंकि कैरेट जो भारत के सबसे बिसेला सांप होता है रात को ही एक्टिव होता है ओर ये हर जगह पाया जाता है,ये ठंडे खून के होते हैं ,ओर गर्म ओर सूखे जगह को पसंद करते हैं जब सूखे जगह पहुंच जाते हैं तो इंसानी गर्मी पर आकर्षित होते हैं अपने आप को गर्म करने के लिए बिस्तर में भी आ जाते हैं ओर दुर्घटना हो जाता है,अगर किसी के साथ ऐसा होता है तो नजदीक के जानकार से सलाह लें जड़ी जकड़ी बेद गुनिया के चक्कर में न आए स्वस्थ रहे मस्त रहे।

  1. परिवार के आंसू नहीं सुखने पाते हैं, दलाल हो जाते है सक्रिय।

वही हम आपको बता दें कि मिली जानकारी के अनुसार एक तरफ जहां परिवार के लोगों के आंसू सूखने नहीं पाते हैं तो वहीं दूसरी ओर पैसों को लेकर दलाल सक्रिय होने लगते हैं। जो लोगों को पैसे के लिए लोगों के पीछे लगे रहते हैं। वहीं लोगो को दलालों से सावधान होने की आवश्यकता है।

Advertisement

Related Articles

Back to top button