छत्तीसगढ़

रायगढ़ में दो व्यापारियों ने की आत्महत्या…शव यात्रा में लोग सट्टा जुआ  के खिलाफ क्यों लगा रहे थे नारे..!

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले में गुरुवार को लोगों ने हाथ में तख्ती लेकर शवयात्रा निकाली, जहाँ जुआ/सट्टा के कारण 12 घंटे के भीतर दो लोगों के द्वारा आत्महत्या कर लिए जाने के कारण शहरवासियों में आक्रोश है।

Advertisement

जानकारी के मुताबिक बीते बुधवार शाम को जहां बालाजी डोर फर्म के संचालक के कारोबारी बेटे मयंक मित्तल (34 वर्ष) ने खुदकुशी कर ली, तो वहीं गुरुवार सुबह व्यवसायी बादशाह मुनव्वर (54 वर्ष) ने आत्महत्या कर ली। घटना कोतवाली थाना क्षेत्र की है।

Advertisement

शहरवासियों ने कारोबारी मयंक मित्तल की शवयात्रा में ‘मित्तल परिवार इंसाफ मांगता सटोरियों पर कार्रवाई चाहता’ लिखी हुई तख्ती पकड़े हुए थे।


उन्होंने सटोरियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। जानकारी के मुताबिक, रविवार को हुए भारत-पाकिस्तान क्रिकेट मैच में मयंक मित्तल ने सट्टा लगाया था, जिसमें वे 1 करोड़ की राशि हार गए थे।


इसके बाद 26 अक्टूबर की शाम मालधक्का रोड स्थित घर पर कारोबारी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।
लोगों ने पुलिस पर क्रिकेट सट्टे पर कोई कार्रवाई नहीं करने के आरोप लगाए।

लोगों ने आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस के संरक्षण में सट्टा कारोबार फलफूल रहा है, जनचर्चा यह है कि सट्टे में 1 करोड़ की धनराशि हार जाने से हताश कारोबारी ने मौत को गले लगा लिया।


तख्ती पर ‘जुआ सट्टा बंद हो’, ‘क्रिकेट खाईवालों को तत्काल पकड़ो’ जैसी बातें भी लिखी हुई थी।
इधर पुलिस ने मयंक मित्तल के केस में तो सट्टे की बात मानी है, लेकिन दूसरे कारोबारी बादशाह मुनव्वर खान की आत्महत्या के पीछे पारिवारिक विवाद बता रही है, जबकि लोगों ने साफ कहा कि मुनव्वर को भी क्रिकेट मैच में सट्टा लगाने की लत थी और उसने भी अपनी जान इसमें रुपए हार जाने के कारण ली है।

बादशाह मुनव्वर खान की लाश आज़ गुरुवार की सुबह बाघ तालाब चांदमारी के पास एक पेड़ पर फांसी के फंदे से लटकी हुई मिली, दोनों मामलों में पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button