देश

500 साल पहले मरे सूफी संत का कर दिया हिंदू नामकरण……भड़के मुस्लिम भूख हड़ताल पर बैठे

Advertisement


(शशि कोन्हेर) : हिंदू-मुस्लिम भाईचारे की मिसाल रही पीर इमामशाह बाबा की दरगाह अब धार्मिक विवादों में घिरती नजर आ रही है। मामला गुजरात के अहमदाबाद का है, यहां सूफी संत का नाम बदले जाने के खिलाफ मुस्लिम समुदाय के कई सदस्य अनिश्चितकाल के लिए भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं। इससे पहले दरगाह परिसर में मंदिर बनाए जाने को लेकर भी विरोध हो चुका है।

Advertisement


करीब 500 साल पहले पीर इमामशाह बाबा की मौत हो चुकी है। अहमदाबाद के बाहरी इलाके पिराना गांव में उनकी दरगाह थी, जहां हिंदू और मुस्लिम समुदाय के लोगों को आना जाना था। इसे धार्मिक सद्भावन की मिसाल भी कहा जाता था। अब बाबा के हिंदू अनुयायियों ने सूफी संत का नाम बदलकर सद्गुरु हंसतेजजी महाराज करने का फैसला किया है।

Advertisement

इमामशाह बाबा रोजा संस्थान के ट्रस्टीज की तरफ से जिला कलेक्टर को भूख हड़ताल के बारे में भी सूचित कर दिया गया है। साथ ही अधिकारियों से इस मामले में दखल की मांग भी की है। इसके अलावा मुस्लिम समुदाय ने दरगाह परिसर में भूख हड़ताल पर बैठने वाले करीब 25 लोगों की सुरक्षा की भी मांग की है।


पीर के वंशजों ने इस नामकरण पर विरोध जताया है। उनका कहना है कि दरगाह के भगवाकरण का यह एक और प्रयास है। पीर के वंशज स्थानीय सैयद समुदाय से जुड़े हैं। साथ ही ट्रस्टीज ने हजरत पीर इमामशाह बाबा की दरगाह को हिंदू धार्मिक स्थल के तौर पर बदलने पर भी आपत्ति जताई है। इस संबंध में गुजरात के राज्यपाल समेत कई बड़े अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button