छत्तीसगढ़

चुनौतियों के बीच अवसर तलाशने से मिलती है सफलता :- राष्ट्रपति, देखें दीक्षांत समारोह का पूरा वीडियो

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : गुरुघासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय के दसवें दीक्षांत समारोह में शामिल होने महामहिम राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू बिलासपुर पहुंची।

Advertisement

हेलीपैड पर राज्यपाल विश्व भूषण हरिचंदन, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह, उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल, महापौर रामशरण यादव सहित अधिकारियों ने स्वागत किया। यहां से राष्ट्रपति पहले रतनपुर महामाया मंदिर गई उसके बाद दीक्षांत समारोह में शामिल हुई।

Advertisement

रतनपुर में मां महामाया देवी के दर्शन करने के बाद राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू सड़क  गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय पहुंची और दीक्षांत समारोह में शामिल हुई। यहां राज्यपाल विश्व भूषण हरिचंदन मुख्यमंत्री भूपेश बघेल केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल महापौर रामशरण यादव,कुलपति प्रोफ़ेसर अशोक चक्रवाल सहित अधिकारियों ने उनका स्वागत किया।

राष्ट्रगान के बाद राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू सहित अतिथियों ने मां सरस्वती छत्तीसगढ़ महतारी और गुरु घासीदास बाबा के प्रतिमा पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय बिलासपुर में आयोजित दीक्षांत समारोह में सत्र 2021-22 की विभिन्न परीक्षाओं स्नातक, स्नातकोत्तर, पत्रोपाधी में उत्तीर्ण 2 हजार 9 सौ 46 छात्र-छात्राओं को उपाधि दी।

वैसे किसी भी केंद्रीय विश्वविद्यालय का दीक्षांत समारोह यादगार ही हुआ करता है। इसमें मुख्य अतिथि के जरिए प्रतिभाशाली विद्यार्थियों के सम्मान सहित अनेक आयोजन और उद्बोधन आशीर्वचन होते हैं।बिलासपुर में गुरु घासीदास विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में शामिल होकर देश की राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मू ने इस दीक्षांत समारोह की गरिमा को हिमालयी ऊंचाई प्रदान की।

वे जितने समय तक इस समारोह में मौजूद रहीं, हर पल विद्यार्थियों समेत सभी को, उनके अपनेपन का एहसास होता रहा।राष्‍ट्रपति ने कहा कि यह देखकर मूझे बहुत प्रसन्नता हुई है कि स्वर्ण पदक प्राप्त करने वाले 76 प्रतिशत विद्यार्थियों में छात्राओं की संख्या 45 है। जो लगभग 60% है। विश्वविद्यालय में विद्यार्थियों में भी छात्राओं की संख्या लगभग 47% है। छात्राओं के बेहतर प्रदर्शन के पीछे उनकी अपनी प्रतिभा लगन के साथ-साथ उनके परिवार जनों के साथ ही विश्वविद्यालय की टीम का योगदान भी है। इस सफलता के लिए राष्ट्रपति ने सभी को  बधाई थी

इस मौके पर द जैन इंटरनेशनल स्कूल की डायरेक्टर अनीता अग्रवाल प्रिंसिपल संजय श्रीवास्तव छात्रा मायरा अग्रवाल, अर्शिया मक्कड़, मेहर सलूजा, छात्र लाल युवराज सिंह,पलाश वालेचा ने महामहिम का अभिवादन किया और उन्हें बुके के साथ-साथ सामूहिक रूप से मोमेंटो प्रदान कर खुशी जाहिर की।विद्यार्थियों का सम्मान करते समय उनके चेहरे पर आने वाली मुस्कान और ग्रुप फोटो तथा स्वागत सत्कार के समय राष्ट्रपति का प्रफुल्लित व्यक्तित्व सभी उपस्थितों को देश के सर्वोच्च पद पर आसीन द्रौपदी मुर्मू की गरिमा का एहसास कराता रहा।

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button