बिलासपुर

खेल आयोजन : एकता का सबसे बड़ा कार्यशाला.. अंकित ने कहा..जीवन हो या खेल का मैदान ..बिना सामुहिक प्रयास से सफलता मुश्किल

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : बिलासपुर -:- जीवन हो या खेल…बिना सामुहिक प्रयास से किसी को सफलता नहीं मिलती। जीवन की दौड़ में प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से समाज और परिवार का हमेशा सहयोग रहा है। इसी सहयोग के दम पर ही सफलता मिलती है। ठीक ऐसा ही खेल का भी स्वभाव है। कोई खिलाड़ी अकेले दम पर टीम को सफलता नहीं दिला सकता है। मतलब चाहे खेल हो या जीवन की दौड़। सफलता सामुहिक प्रयास से ही मिलती है। यह बातें जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा ने क्रिकेट प्रतियोगिता सम्मान समारोह के दौरान कही।

Advertisement

                       मोपका वार्ड क्रमांक 48 में स्व.कांत्रु यादव जी की स्मृति में अयोजित क्रिकेट प्रतियोगिता में जिला पंचायत अंकित गौरहा ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत किया। सादगी भरे कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि ने विजेता उप विजेता टीम के खिलाडियों का सम्मान किया। विजेता टीम को विजेता ट्राफी के अलावा 21 हजार का नगद ईनाम दिया व उपविजेता टीम को रनिंग ट्राफी के साथ 11 हजार रूपये दिए।

Advertisement

                   जानकारी देते चलें कि वार्ड क्रमांक 48 स्थित बंधवापारा मैदान में आंचलिक क्रिकेट टूर्नामेन्ट खेला गया। सकरी टीम ने प्रतियोगिता को अपने नाम किया। कप्तान जयकांत ने मुख्य अतिथि के हाथों रनिंग ट्राफी लिया। उप विजेता टीम मोपका के कप्तान संदीप सूर्यवंशी को अंकित गौरहा ने उपविजेता ट्राफी दिया।

              उपस्थित खिलाडियों और गणमान्य लोगों को मुख्य अतिथि ने संबोधित किया। अंकित ने कहा..खेल और जीवन की तासीर एक ही है। चूंकि मानव का स्वभावगत सामाजिक प्राणी है। इसलिए, कल्पना करना कि अकेले दम पर सब कुछ हासिल करे लेगा..पूरी तरह गलत है। दुनिया में सहभागिता से ही हर काम संभव है। खेल का मैदान भी कुछ ऐसा ही होता है। खिलाड़ियों के सामुहिक प्रयास से ही खेल संभव है। मतलब एकता ही सफलता का सबसे बड़ा मंत्र है।

                     अंकित ने कहा खेल से हमें एक रहने की शिक्षा मिलती है। हमारे रूप रंग अलग अलग हो सकते हैं। लेकिन हमारा उद्देश्य एक ही होता है और हमें अपना उद्देश्य स्पष्ट रखना होगा। तब ही खेल में मिली जीत की तरह..हम विकास की जीत को हासिल कर पाएंगे।

                        कार्यक्रम में कांग्रेस नेता साखन दर्वे व रामकुमार निर्मलकर ने भी संबोधित किया। डॉ.अशोक बेनर्जी,मुखीराम बिरजे,रामायण साहू, दिलीप यादव,रमेश साई,विष्णु यादव,लक्ष्मी प्रसाद साहू,मुरारी साहू,संजू साहू,आशीष साहू,दादूराम साहू,व्यास साहू,सरोज साहू,गिरीश साहू,मारूत साहू,मुकेश यादव,गणेश साहू,बड़कू यादव,राहुल यादव,मनोज यादव,गोलू तिवारी, गिरीश केवंट समेत गणमान्य लोग मौजूद थे।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button