देश

MP चुनाव से पहले शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार, 3 और विधायक बने मंत्री….देखें लिस्ट

Advertisement





(शशि कोन्हेर) : साल के आखिर में मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने राज्य विधानसभा चुनाव से कुछ महीने पहले शनिवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) के तीन विधायकों को मंत्रियों के रूप में शामिल करके अपने मंत्रिमंडल का विस्तार किया है। इसके साथ ही चौहान के नेतृत्व वाले मंत्रिमंडल में अब 34 सदस्य हो गए हैं।

Advertisement

राज्य के राज्यपाल मंगूभाई पटेल ने सुबह करीब नौ बजे यहां राजभवन में तीन विधायकों को मंत्री पद की शपथ दिलाई। पूर्व मंत्री, ब्राह्मण नेता और विंध क्षेत्र के रीवा से चार बार विधायक राजेंद्र शुक्ला, महाकोशल क्षेत्र के बालाघाट से सात बार विधायक एवं मध्य प्रदेश पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष गौरीशंकर बिसेन और बुंदेलखंड क्षेत्र में टीकमगढ़ जिले के खरगापुर से विधायक राहुल लोधी ने मंत्री पद की शपथ ली।

Advertisement

राजभवन के एक अधिकारी ने बताया कि शुक्ला और बिसेन ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली, वहीं लोधी ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली। उन्हें अभी तक विभागों का आवंटन नहीं किया गया है। लोधी भाजपा की वरिष्ठ नेता उमा भारती के भतीजे हैं। बिसेन (71) और लोधी (46) अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) समुदाय से हैं, जो मध्य प्रदेश की आबादी का 45 प्रतिशत से अधिक है। शुक्ला के शामिल होने से विंध क्षेत्र से मंत्रियों की संख्या चार हो जाएगी जबकि बिसेन के आने से महाकौशल इलाके से दो तथा लोधी के शामिल होने से बुंदेलखंड से मंत्रियों की संख्या पांच हो जाएगी।

केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल के छोटे भाई जालम सिंह और भाजपा एससी (अनुसूचित जाति) मोर्चा के अध्यक्ष लालसिंह आर्य के नाम भी चर्चा में थे लेकिन वे कैबिनेट में जगह नहीं बना सके। मंत्रिमंडल के विस्तार के साथ भाजपा ने तीन महीने से भी कम समय में होने वाले चुनावों से पहले मध्य प्रदेश में जातीय और क्षेत्रीय समीकरण को संतुलित करने की कोशिश की है। मध्य प्रदेश में पिछला विधानसभा चुनाव 28 नवंबर, 2018 को हुआ था।


शपथ लेने के बाद मध्यप्रदेश के नवनियुक्त मंत्री राहुल लोधी ने कहा कि पार्टी ने हम पर जो भरोसा जताया है, उसके लिए बुन्देलखण्ड में यथासंभव प्रयास करेंगे। अच्छा प्रदर्शन करने के लिए डेढ़ महीना काफी है। मुख्यमंत्री ने सही समय पर सही फैसला लिया है… हमारी प्राथमिकता होगी कि बुंदेलखण्ड को मजबूत किया जाए और उसके विकास के लिए काम किया जाए। दूसरे नवनियुक्त मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने कहा कि हमारी प्राथमिकता प्रदेश का विकास और जनता का कल्याण होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button